ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR गुरुग्रामदेशभर में लोगों से साढ़े 11 करोड़ ऐंठने वाले तीन जालसाज दबोचे

देशभर में लोगों से साढ़े 11 करोड़ ऐंठने वाले तीन जालसाज दबोचे

गुरुग्राम। तीन ठगों ने देशभर में 3465 लोगों से 11.65 करोड़ रुपये ठगे हैं। इसका खुलासा गुरुग्राम पुलिस ने इंडियन साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर से किया...

देशभर में लोगों से साढ़े 11 करोड़ ऐंठने वाले तीन जालसाज दबोचे
default image
हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवMon, 17 Jun 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

गुरुग्राम। तीन ठगों ने देशभर में 3465 लोगों से 11.65 करोड़ रुपये ठगे हैं। इसका खुलासा गुरुग्राम पुलिस ने इंडियन साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर (I4C) से किया है। गिरफ्तार अभी इन ठगों से पूछताछ जारी है। ठगी की और वारदातों का खुलासा हो सकता है।
इन ठगों पर देशभर में 165 मामले दर्ज हैं, जिनमें 10 मामले हरियाणा में दर्ज हैं। गुरुग्राम और मानेसर इलाके में इन्होंने ठगी की तीन वारदातों को अंजाम दिया है। इनमें दो ठग हरियाणा के रहने वाले हैं, जबकि एक झारखंड का निवासी है। आरोप है कि यह ठग सोशल मीडिया के माध्यम से अधिक रुपये कमाने का लालच देकर ठगी की वारदात को अंजाम देते थे।

इन ठगों में कुरुक्षेत्र के थानेसर क्षेत्र की परशुराम कॉलोनी का सोनू शामिल है। गत चार मई को थाना साइबर अपराध पश्चिम के सहायक उप निरीक्षक अशोक ने इसे पकड़ा था। इसके खिलाफ साल 2023 में ठगी का मामला दर्ज है। इस तरह झारखंड के धनबाद के गांव नोयावाद कोक के रहने वाले त्रिभुवन को नौ मई को गिरफ्तार किया। इसने इस साल जनवरी माह में ठगी की वारदात को अंजाम दिया था। इसके अलावा गुरुग्राम के तेलपुरी के रहने वाले नवीन कुमार को थाना साइबर अपराध, मानेसर के उप निरीक्षक दीपक ने पकड़ा। नौ मई को इस आरोपी को गिरफ्तार किया था।

इन आरोपियों से पुलिस ने गिरफ्तारी के दौरान दो मोबाइल बरामद किए थे। इन मोबाइल की इंडियन साईबर क्राईम कोर्डिनेशन सेंटर (I4C) में की गई तो देशभर में इन ठगों की तरफ से 3465 वारदात को अंजाम देने का खुलासा हुआ। देशभर में इन लोगों के खिलाफ 165 मामले दर्ज हैं। इन्होंने लोगों से 11.65 करोड़ रुपये की ठगी की वारदात को अंजाम दिया है। पिछले दो-तीन साल में इन ठगों ने इन वारदातों को अंजाम दिया है।

त्रिभुवन ने गुरुग्राम की महिला से ठगे से एक लाख रुपये

गत छह मार्च को थाना साइबर अपराध, पश्चिम ने लक्ष्मण विहार निवासी शुभा भाटी की शिकायत पर अज्ञात शख्स के खिलाफ मामला दर्ज किया था। 17 जनवरी को इसने पुलिस में शिकायत दी थी कि इसका एटीएम कार्ड बंद हो गया था। गूगल से कस्टमर केयर का नंबर सर्च किया तो उसके पास एक मोबाइल से कॉल आया। उसने कहा कि उसका एटीएम काम करने लगेगा। उसने एक लिंक भेजकर उसके ऊपर क्लिक करने के लिए कहा। लिंक पर क्लिक कर दिया, लेकिन एटीएम नहीं खुला। जब बैंक जाकर पता किया तो पाया कि उसके खाते से एक लाख रुपये निकल गए हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था। तब से आरोपी की तलाश की जा रही थी। इस मामले में अब आरोपी त्रिभुवन को पुलिस ने पकड़ा है।

तीन साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है। इंडियन साईबर क्राईम कोर्डिनेशन सेंटर की मदद से इन ठगों से देशभर में ठगी की वारदात करने का खुलासा हुआ है। जहां-जहां इनके खिलाफ मामले दर्ज हैं, वहां इनकी गिरफ्तारी की जानकारी दे दी है। अभी इन ठगों से पूछताछ की जा रही है। ठगी की और वारदातों का खुलासा हो सकता है।

- प्रियांशु दीवान, सहायक पुलिस आयुक्त, साइबर अपराध, गुरुग्राम

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।