DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  गुरुग्राम  ›  अधिक दामों पर खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर शिकंजा कसेगा

गुड़गांवअधिक दामों पर खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर शिकंजा कसेगा

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Tue, 04 May 2021 11:50 PM
अधिक दामों पर खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर शिकंजा कसेगा

वास्तविक कीमत (एमआरपी) से अधिक दामों पर खाद्य पदार्थ बेचना दुकानदारों को अब महंगा पड़ सकता है। प्रशासन ने ऐसे लोगों की शिकायत करने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। यदि कोई भी दुकानदार किसी भी खाद्य पदार्थ का उपभोक्ता से एमआरपी से ज्यादा वसूलता है, तो वह 9999097004 पर इसकी शिकायत कर सकता है। खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक विभाग की टीम ने मंगलवार को एक ऐसी ही शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एक दुकानदार का आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत चालान किया है।

लॉकडाउन की आड़ में जरूरी खाद्य वस्तुओं के अनावश्यक रूप से दाम बढ़ाने की शिकायतें प्रशासन को हासिल हो रही थी। इसपर संज्ञान लेते हुए प्रशासन अब हरकत में आ गया है। शिकायतकर्ता प्रमोद कुमार ने खाद्य एवं पूर्ति विभाग की टीम को सेक्टर-48 स्थित मोर हाइपर मार्ट के खिलाफ अधिक दामों पर खाद्य पदार्थों की बिक्री करने की शिकायत दी थी। शिकायतकर्ता के अनुसार उसने वहां से मूंगफली का तेल खरीदा था। जिसका एमआरपी 220 रुपये था, लेकिन मार्ट द्वारा इसे 253 रुपये 80 पैसे का बेचा जा रहा है। इसपर संज्ञान लेते हुए मंगलवार को खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक विभाग के निरीक्षक राकेश ने स्टोर का निरीक्षण किया। तथ्यों की पड़ताल की गई, जिस पर शिकायतकर्ता द्वारा की गई शिकायत सही पाई गई। टीम ने इस पर कार्रवाई करते हुए आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत उसका चालान किया गया।

दुकानों पर टीमों पर निगरानी

निरीक्षक राकेश ने बताया कि विभाग की टीमें लगातार दुकानों पर निगरानी रखे हुए हैं। लोगों से मिलने वाली शिकायतों पर भी तुरंत संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि विभाग का लक्ष्य खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी रोकने का है। लॉकडाउन की आड़ में कोई अधिक दामों पर खाद्य पदार्थ न बेचे इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। यदि ऐसे कोई करता है, तो उसकी शिकायत विभाग के हेल्पलाइन नंबर पर की जा सकती है।

दोषियों पर होगी कार्रवाई

जिला उपायुक्त डॉ. यश गर्ग ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए लगाए गए लॉकडाउन में आमजन को किसी भी प्रकार से आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता में व्यावधान नहीं होगा। जिला प्रशासन द्वारा कालाबाजारी करने वालों पर पूरी निगरानी की जा रही है। आवश्यक वस्तुएं जैसे पैक्ड कंपनी आइटम एमआरपी से अधिक रेट पर नहीं बेचे जा सकते हैं। ऐसा करने वालों से जिला प्रशासन सख्ती से निपटेगा और उन्हें किसी भी सूरत पर बख्शा नहीं जाएगा। नियमानुसार उनपर कार्रवाई होगी। खरीददार भी ध्यान रखें और एमआरपी से अधिक दरें वसूले जाने के संबंध में शिकायत करें। उपायुक्त ने कहा कि इस प्रकार की मनमानी को रोकने के लिए आम जनता के सहयोग की जरूरत है।

संबंधित खबरें