DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › गुरुग्राम › स्लैब में दरार आने पर कार्रवाई की तलवार लटकी
गुड़गांव

स्लैब में दरार आने पर कार्रवाई की तलवार लटकी

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 11:30 PM
स्लैब में दरार आने पर कार्रवाई की तलवार लटकी

गुरुग्राम। द्वारका एक्सप्रेसवे के पैकेज तीन का निर्माण कर रही लारसेन एंड टूबरो (एल एंड टी) कंपनी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। पैकेज तीन में निर्माणाधीन एलिवेटेड फ्लाईओवर की स्लैब में दरार आने पर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने शनिवार रात को ही कंपनी को नोटिस जारी किया है। कंपनी को कहा गया है कि वह बताएं कि स्लैब में दरार आने पर उनकी कंपनी पर कार्रवाई क्यों न की जाए। एनएचएआई ने तीन दिन में जवाब देने को कहा है। वहीं कंपनी ने जिस स्लैब में दरार आई है, उसे पूरी तरह से ढक दिया है। आसपास बैरिकेडिंग भी कर दी गई है।

शनिवार को स्थानीय लोगों ने निर्माणाधीन द्वारका एक्सप्रेसवे के पैकेज तीन में बन रहे एलिवेटेड फ्लाईओवर के एक हिस्से में पिलर नंबर 174 और 175 के बीच डली स्लैब में दरार देखी थी। इसके बाद इस मामले को सोशल मीडिया पर भी उठाया गया था। साईं कुंज आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष ने इसकी शिकायत सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री कार्यालय, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और एनएचएआई को भी की थी। एनएचएआई ने मामले पर संज्ञान लिया है।

तीन दिन में जवाब देने के निर्देश

एनएचएआई की द्वारका यूनिट के परियोजना निदेशक निर्माण जंभुलकर ने बताया कि इसके लिए कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया है। कंपनी से तीन दिन में लिखित जवाब मांगा गया है। हालांकि, उन्होंने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में कंपनी की ओर से उन्हें बताया गया है कि वहां गार्डर लगाकर स्लैब की गुणवत्ता की जांच की जा रही थी। परियोजना निदेशक ने कहा कि कंपनी का जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसी साल मार्च में गिरी थी स्लैब

गौरतलब हो कि इससे पहले भी इसी साल मार्च में इसी पैकेज के पिलर नंबर 107 और 109 के बीच में भी दो स्लैब गिरी थी। इस घटना में तीन मजदूर घायल भी हुए थे। दिल्ली के महिपालपुर के पास स्थित शिव मूर्ति के पास से खेड़कीदौला तक बन रहे इस 29 किलोमीटर लंबे द्वारका एक्सप्रेसवे का निर्माण चार पैकेज में हो रहा है। दो पैकेज दिल्ली में और दो पैकेज गुरुग्राम में हैं। 2022 तक इस परियोजना के पूरे होने की समय सीमा तय है।

संबंधित खबरें