The entry of outsiders in hooda offices - आम लोग हुडा कार्यालयों में सीधे कर्मचारियों से नहीं मिल पाएंगे DA Image
16 नबम्बर, 2019|3:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आम लोग हुडा कार्यालयों में सीधे कर्मचारियों से नहीं मिल पाएंगे

हुडा के दोनों कार्यालयों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लग गई है। अब किसी भी तरह की शिकायत दर्ज कराने या जानकारी प्राप्त करने के लिए लोग कर्मचारियों के बजाय सीधा संपदा अधिकारी या हुडा प्रशासक से मिलेंगे। वहीं बहुत जरूरी होने पर विधिवत जांच पड़ताल के बाद लोगों को कार्यालय के अंदर प्रवेश दिया जाएगा। हुडा के मुख्य प्रशासक जे गणेशन के दौरे के बाद हुडा विभाग ने इस व्यवस्था को धीरे धीरे लागू करना शुरू कर दिया है।

हुडा के संपदा अधिकारी प्रथम संजीव सिंगला के मुताबिक कार्यालय तक आम आदमी की पहुंच को बंद करने के लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया जा रहा है। इस सिस्टम के तहत सभी तरह की शिकायतें, सुझाव एवं आवेदन कार्यालय के बाहर बनने वाले इस सिंगल विंडो में दर्ज हो सकेंगी। वहीं यदि किसी को इसमें कोई दिक्कत है तो वह संपदा अधिकारी से संपर्क करेगा। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था को पूरी तरह से लागू करने के लिए सेक्टर 14 स्थित कार्यालय के भूतल की दीवारों को तोड़ कर सिंगल विंडो बनाया जा रहा है। हालांकि इसमें करीब एक महीने का समय लग सकता है। ऐसे में तब तक के लिए यह सुविधा सहायता कक्ष के माध्यम से शुरू कर दी गई है।

नाम पता दर्ज कराने के बाद प्रवेश

दोनों संपदा अधिकारियों के कार्यालय में तैनात कर्मचारियों के पास आमजन का प्रवेश रोक दिया गया है। लोग यहां आकर सीधे संपदा अधिकारी से मिलेंगे। वहीं जरूरी होने पर संपदा अधिकारी उन्हें किसी कर्मचारी के पास भेज सकते हैं। लेकिन इसके लिए गेट पर रखे रजिस्टर में नाम, पता, मोबाइल नंबर, काम की प्रवृति समेत कई अन्य जानकारियां दर्ज करानी होंगी।

बिचौलियों पर होगी नजर

हुडा विभाग से जारी होने वाले किसी भी तरह के दस्तावेजों को जारी कराने में बिचौलियों की भूमिका को समाप्त करने के लिए यह कवायद की गई है। हुडा विभाग ने बिचौलियों को रोकने के लिए सिंगल विंडो सिस्टम शुरू तो कर ही दिया है, प्रवेशद्वार पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जा रहे हैं। इससे कार्यालय में आने जाने वाले हरेक व्यक्ति पर नजर रखी जा सकेगी।

बायोमेट्रिक पहचान से खुलेंगे गेट

कर्मचारियों को भी कार्यालय में घुसने के लिए गेट पर अपनी बायोमेट्रिक पहचान बतानी होगी। इसके लिए दोनों कार्यालयों में सभी कर्मचारियों की बायोमेट्रिक पहचान दर्ज करने की कवायद शुरू हो गई है। हालांकि इस व्यवस्था को लागू होने में एक सप्ताह का समय लग सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The entry of outsiders in hooda offices