DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पर्यावरण में सुधार के लिए टास्क फोर्स बनेगा

शहर में पर्यावरण पर नजर रखने एवं सुधार की संभावना तलाशने के लिए एक विशेष टास्क फोस का गठन किया जाएगा। स्वयं सेवी संस्था गुड़गांव फ्रस्ट्र की पहल पर केंद्रीय योजना एवं शहरी विकास मंत्री स्वतंत्र प्रभार राव इंद्रजीत सिंह ने इसके लिए अपना समर्थन दिया है। केंद्रीय मंत्री गुरुवार को संस्था द्वारा आयोजित एक सेमिनार में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। इस सेमिनार का आयोजन विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में किया गया था। इसमें विभिन्न विशेषज्ञों ने पर्यावरण एवं जल संरक्षण, यातायात प्रबंधन, वन क्षेत्र आदि मुद्दों पर बेबाक राय प्रकट किया। हालात पर चिंता जताते हुए इसमें सुधार के लिए उपाय बताए। बढ़ते शहरीकरण के लिए प्रतिदिन बीस से अधिक पेड़ कट रहे विशेषज्ञों के मुताबिक बढ़ते शहरीकरण के लिए प्रतिदिन बीस से अधिक पेड़ कट रहे हैं। जबकि मुश्किल से दस पौधे ही लगाए जा रहे हैं। इसी प्रकार शहरवासियों को पर्याप्त नहरी पानी की आपूर्ति न होने से भूगर्भ जल का दोहन हो रहा है। सेमिनार में ‘फ्रेमवर्क फॉर सस्टेनबिलिटी डेवलपमेंट ऑफ गुरुग्राम नामक एक पुस्तक का विमोचन भी किया गया। यह पुस्तक सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट तथा गुडग़ांव फ्रस्ट्र संस्था द्वारा विभिन्न अधिकारियों एवं नागरिक समूहों के साथ बातचीत के अधार पर तैयार किया गया है। सेमिनार में वायु, जल, कचरे से संबंधित तीन सत्र रखे गए। आखिर में वन एवं ग्रीन कवर से संबंधित एक शॉर्ट सेशन भी हुआ। इस मौके पर नगर निगम के अधीक्षक अभियंता सुभाष भांबू, कार्यकारी अभियंता राव भोपाल सिंह, गुडग़ांव फस्र्ट से शुभ्रा पुरी, सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट से अनुमिता रॉय चौधरी, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ सस्टेनेबल डेवलपमेंट से श्रीकांत पाणिग्रही सहित विभिन्न आरडब्ल्यूए, स्कूल, अथॉरिटीज, आर्किटैक्ट और सस्टेनबिलिटी विशेषज्ञ मौजूद थे। पर्यावरण के सतत संरक्षण की आवश्यकता कार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि भारत शुरू से ही एक समृद्ध देश रहा है और इसकी स्मृद्धि के कारण ही मुगल और ब्रिटिश शासक यहां आए। आजादी के बाद देश ने जो भी तरक्की की है या जो कुछ भी पाया है, देशवासियों के प्रयास से ही पाया है। शहरीकरण की वजह से शहर में हरियाली कम होती जा रही है और गाडिय़ों की संख्या बढऩे से प्रदूषण बढ़ रहा है। ऐसे में अब समय आ गया है कि हम पर्यावरण के लिए सतत संरक्षण एवं प्रबंधन की पहल करें। उन्होंने कहा कि केन्द्र और हरियाणा सरकार इस दिशा पूरी तरह से सजग है और लगातार प्रयास भी किए जा रहे हैं। लेकिन इस अभियान में जनभागीदारी जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Task Force will be built to improve the environment