DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  गुरुग्राम  ›  संक्रमण को मात देने के बाद भी कई मरीजों में दिख रहे लक्षण

गुड़गांवसंक्रमण को मात देने के बाद भी कई मरीजों में दिख रहे लक्षण

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Thu, 13 May 2021 11:30 PM
संक्रमण को मात देने के बाद भी कई मरीजों में दिख रहे लक्षण

कोविड को मात देने के बाद भी मरीज पूरी तरह से मरीज ठीक नहीं हो पा रहे है। एक महीने बाद भी लोगों को चक्कर आना,उल्टी,कमजोरी सहित अन्य दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है। ऐसे में पोस्ट कोविड मरीजों को डॉक्टर आराम करने की सलाह दे रहे है। तबीयत बिगड़ने पर परामर्श की बात डॉक्टर कह रहे हैं। ऐसे में संक्रमण को मात देने के बाद भी जिन मरीजों में ज्यादा दिनों तक लक्षण रह रहे हैं, वह नागरिक अस्पताल में स्थित पोस्ट कोविड ओपीडी या टेलीमेडिसिन के जरीए चिकित्सक हासिल कर रहे हैं।

ओपीडी में आ रहे रोजाना पांच मरीज

नागरिक अस्पताल सेक्टर-10 में पोस्ट कोविड ओपीडी पिछले साल से चल रही है। ओपीडी में अभी रोजाना चार से पांच मरीज आते है। मरीज स्वस्थ होने के बाद शरीर में हुई परेशानियों के बारे में पूछते है। ओपीडी में ज्यादातर मरीजों को कमजोरी,जल्दी सांस चढ़ना,सिर और पैरों में दर्द होने की शिकायत लेकर आते है। मरीजों की काउसलिंग करते है और उनको दवाई दी जाती है। इसके अलावा मरीजों को आराम करने के साथ-साथ कोविड प्रोटोकोल का अभी भी पालन करने के लिए कहां जाता है।

संक्रमण के ज्यादा दुष्प्रभाव

फोर्टिस मैमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट डॉ.बेला शर्मा ने बताया कि कोविड का दुष्प्रभाव इस बार ज्यादा है। जबकि कोविड की पहली लहर में संक्रमित मरीजो को ठीक होने के बाद ज्यादा दुष्प्रभाव नहीं देखने को मिले थे। लेकिन इस बार कोविड की दूसरी लहर में आया नया स्ट्रेन काफी खतरनाक है। मरीजों के ठीक होने के बावजूद काफी दिनों तक लक्षण रहते है। उन लक्षणों के कारण लोगों के शरीर पर काफी दुष्प्रभाव पड़ते है। मरीजों को सबसे ज्यादा सिर दर्द,बदन दर्द,घुटनों में दर्द,ज्यादा थकान होना,छाती में दर्द होना और खांसी से लोगों को ज्यादा दिक्कत हो रही है। ऐसे में मरीजों को दिक्कत ज्यादा होने पर डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

नियमों का करें पालन

डॉ.बेला शर्मा ने बताया कि संक्रमित होने के बाद स्वस्थ मरीजों को भी कोविड नियमों का पालन करना चाहिए। कई मरीज दो से तीन बार संक्रमित हो चुके है। क्योकि कोविड का लगातार स्ट्रेन में बदलाव हो रहा है।

अभी भी है गले में दर्द

भोंडसी में रहने वाले 36 वर्षीय बजरंग सिंह ने बताया कि मार्च में वह कोविड पॉजिटिव हो गए थे और उनके गले में दर्द था। उन्होंने आरटपीसीआर करवाया। रिपोर्ट में उनको पॉजिटिव बताया गया। रिपोर्ट आने के बाद घर में उनको होम आइसोलेट हो गए। 15 दिनों तक परिवार से अलग रहने के बाद वह ठीक हो गए। लेकिन नेगेटिव हुए एक महीना हो गया है। लेकिन अभी भी उनको गले में काफी दर्द होता है। कई बार दिक्कत होती है। लेकिन वह खुद मेडिकल इंडस्ट्री से जुड़े हुए है। ऐसे में डॉक्टर से परामर्श और दवाइयां ले रहे है। जिससे काफी हद तक आराम मिलता है।

संबंधित खबरें