DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  गुरुग्राम  ›  रोबोट और मशीनों के होने के बाद भी शहर में सीवरओवरफ्लो
गुड़गांव

रोबोट और मशीनों के होने के बाद भी शहर में सीवरओवरफ्लो

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 11:50 PM
रोबोट और मशीनों के होने के बाद भी शहर में सीवरओवरफ्लो

गुरुग्राम। शहर के रिहायशी क्षेत्र में बंद पड़े सीवर और मेनहोलों से ओवरफ्लो हो रहा गंदा पानी लोगों के लिए परेशानी बना हुआ है। जिन स्थानों पर यह समस्या ज्यादा है, वहां के निवासियों के लिए गलियां से निकलना दूभर हो गया है। हालांकि सीवरेज की सफाई की लिए नगर निगम की ओर से लाखों रुपये खर्च कर रोबोट और सुपर सकर मशीनें खरीदी गई हैं, लेकिन समस्या ज्यों की त्यों है।

रोजाना 80 से शिकायतें ओवरफ्लो

इस समय नगर निगम में रोजाना सीवर ओवरफ्लो की 80 शिकायते पहुंच रही हैं। शहर वासियों का कहना है कि नगर की ओर से लगी मशीनें सीवर की सफाई के लिए पर्याप्त नहीं हैं। जब भी वे निगम को बंद सीवरेज की शिकायत करते हैं तो उन्हें ज्यादातर एक ही जवाब मिलता है कि कर्मचारी किसी दूसरी जगह पर काम से गए हुए हैं। वहां का कार्य होने के बाद ही समस्या का समाधान करवाया जाएगा। ऐसे में लोगों को परेशानी से निजात नहीं मिल रही।

निगम के पास चार सफाई मशीन

सीवरेज सफाई के लिए नगर के पास चार सुपर सकर मशीन है। जिससे निगम के पास आने वाली शिकायतों का भी सही समय पर समाधान नहीं हो पाता। विभाग के पास रोजाना शिकायतें इस समस्या को लेकर पहुंच रही हैं। पार्षदों ने भी बदहाल सीवरेज को लेकर निगम सदन में मुददा उठा चुके है। लेकिन उसके बाद भी लोगों को कोई बड़ी राहत नहीं मिल पाई।

रोबोट से भी नहीं हो पा ही सफाई

जबकि निगम में एक रोबोट मशीन है। दो तीन साल पहले खरीदी गई थी। इस रोबोट के तैनात होने के बाद किसी भी सफाई कर्मचारी को मेनहोल में नहीं उतरना पड़ेगा। लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। रोबोट मशीन से सीवरेज की सफाई नहीं हो रही है। जबकि कर्मियों को तीन माह शिविर लगाकर प्रशिक्षण दिया गया था। लेकिन कोई कर्मचारी रोबोट चलाते नहीं दिखाई दे रहे हैं।

इन जगहों पर ज्यादा दिक्कत

शहर में बसई इंक्लेव, सेक्टर-57 के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, सेक्टर-39, सेक्टर-12ए, विकास नगर के साथ कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां वर्ष भर यह समस्या रहती है। मुकुल प्र्रताप सिंह ने कहा कि सेक्टर-12ए मार्केट गुरुग्राम की अप्रोच पर आयेदिन सीवर लाइन ओवरफ्लो होती है। जिससे मक्खी मच्छर पनप रहे है और बीमारी बढ़ने का खतरा भी, जिसका प्रशासन कोई इलाज नहीं कर रहे और न ही इसकी सफाई पर ध्यान दिया जा रहा है। सुमित ने कहा कि बीकानेर चौक से गांव खांडसा में अंदर आने पर 10 मीटर की दूरी पर खांडसा रोड पर पिछले 3 साल से जल एकत्र गंदा पानी सीवर ब्लॉकेज की समस्या बनी हुई है। हाल ही में 2 सड़क दुर्घटना हो गई हैं। नगर निगम समस्या का जल्द निराकरण करें।

कोट्स

जिन भी क्षेत्रों से शिकायत आ रही है वहां पर समस्या का समाधान किया जा रहा है। मौके पर कर्मचारियों को भेजकर सीवर खुलवाए जा रहे हैं। विभाग का प्रयास रहता है कि लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो।

-गोपाल कलावत,कार्यकारी अभियंता, नगर निगम

संबंधित खबरें