Sadar Bazar sealing - व्यापारियों के विरोध पर लौटी सीलिंग टीम DA Image
6 दिसंबर, 2019|1:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्यापारियों के विरोध पर लौटी सीलिंग टीम

व्यापारियों के विरोध पर लौटी सीलिंग टीम

गुरुग्राम। वरिष्ठ संवाददाता

सदर बाजार में शनिवार की सुबह सीलिंग करने पहुंची नगर निगम की टीम को व्यापारियों का भारी विरोध झेलना पड़ा। दोपहर तक तानातनी रही। मौके पर नेता भी पहुंच गए। इसके बाद सीलिंग टीम को वापस लौटना पड़ा। फिलहाल सीलिंग की कार्रवाई सात दिन के लिए टाल दी गई है।

नगर निगम की इंफोर्समेंट टीम सुबह छह बजे सदर बाजार में सीलिंग करने के लिए पहुंची। लेकिन कार्रवाई शुरू होने से पहले ही इसकी भनक व्यापारियों को लग गई। निगमकर्मियों से पहले ही दुकानदार सदर बाजार में जुट गए।

जेई राजकिशन मोंगिया और जेई सचिन के नेतृत्व में पहुंची टीम से लिखित आदेश मांगे। टीम के लिखित आदेश न दिखा पाने पर दुकानदारों के साथ तकरार बढ़ गई। दुकानदारों के हमलावर होते देख इंफोर्समेंट की टीम वहां भाग गई , जबकि दुकानदारों ने जेई मोंगिया को अपने पास बिठा लिया। पुलिस के भारी संख्या में पहुंचने के बाद जेई को छोड़ा गया।

हिन्दुस्तान ने अवैध उगाही का मुद्दा उठाया था:

सदर बाजार में निगमकर्मियों की ओर से कराए जा रहे अतिक्रमण का मामला 'हिन्दुस्तान' ने 06 और 07 दिसंबर के अंक में उठाया था। नगर निगम की ओर से शुक्रवार को मौके पर वीडियोग्राफी कराई गई। इस आधार पर अतिक्रमण करने वाली सौ दुकानों को चिन्हित किया गया। नगर निगम ने योजना बनाई थी कि बाजार खुलने से पहले ही शनिवार तड़के अतिक्रमण करने वाली दुकानों को सील कर दिया जाएगा।

नेताओं के दखल से हल हुआ मामला

नगर निगम और दुकानदारों में बढ़ी तकरार के बीच मौके पर इनेलो नेता गोपीचंद गहलोत और मुकेश शर्मा पहुंचे। उन्होंने गुड़गांव व्यापार संगठन और संयुक्त आयुक्त विवेक कालिया के बीच बैठक कराई। इस दौरान अतिक्रमण के नाम पर अवैध उगाही किए जाने का मुद्दा उठा, जिस पर विवेक कालिया ने कहा कि उस व्यक्ति का नाम बताएं। वे लोग शाम तक निगम में नहीं रहेंगे। गोपीचंद गहलोत ने दुकानदारों की तरफ से सात दिन का समय मांगा। हालांकि विवेक कालिया सीलिंग करने पर डटे रहे। लंबी चर्चा के बाद गुड़गांव व्यापार संगठन के प्रधान बबूल कुमार ने सात दिन में अतिक्रमण मुक्त करने का भरोसा दिया।

सदर बाजार का औचक निरीक्षण किया

गुड़गांव व्यापार मंडल के साथ बैठक होने के बाद विवेक कालिया अचानक सदर बाजार पहुंच गए। उन्होंने चेतावनी दी कि इस बार व्यापार मंडल, नेताओं की वजह से छोड़ दिया गया है। अगली बार अतिक्रमण करने पर किसी की नहीं सुनी जाएगी। दुकानें सील की जाएंगी और 50 हजार का जुर्माना लगाया जाएगा।

चार घंटे तक बंद रखीं दुकानें

नगर निगम की ओर से लगातार की जा रही कार्रवाई को लेकर दुकानदारों ने विरोध जताया। करीब चार घंटे तक दुकानों को बंद रखा। सुबह सात बजे से 11 बजे तक दुकानें बंद रहीं। इसके अलावा नगर निगम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

संयुक्त आयुक्त के सामने अवैध वसूली का मामला उठाया गया। अतिक्रमण के लिए कर्मचारी तीन हजार रुपये लेते हैं। रिकार्डिंग डिलीट करने के लिए पांच हजार रुपये। दुकानदारों को सात दिन का समय दिया गया है। इसके बाद भी अतिक्रमण करने वालों की दुकानें सील करवाने खुद निगम के साथ जाएंगे।

बबलू गुप्ता, प्रधान (गुड़गांव व्यापार मंडल)

सदर बाजार में अवैध वसूली को लेकर नगर निगम जांच कराएगा। दुकानदारों से इस मामले में वसूली करने वालों के नाम मांगे गए हैं। सदर बाजार को हर हाल में अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा।

विवेक कालिया, संयुक्त आयुक्त (नगर निगम गुरुग्राम)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sadar Bazar sealing