DA Image
20 अप्रैल, 2021|4:25|IST

अगली स्टोरी

तैयारी: नए गुरुग्राम के 57 सेक्टरों में बिजली लाइन भूमिगत होगी

default image

गुरुग्राम। नए गुरुग्राम के सेक्टर-58 से 115 में खंभों से गुजर रही बिजली की 33केवी लाइन जल्द भूमिगत की जाएगी। दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन) की ओर से नए गुरुग्राम में भी स्मार्ट ग्रिड योजना लागू करने की तैयारी की जा रही है। जिससे कि नए सेक्टरों में भी बिजली व्यवस्था को अपग्रेड कर स्मार्ट बनाया जा सके और आपूर्ति में किसी तरह की रुकावट न आए। इस योजना के लिए बिजली निगम की ओर से डीपीआर भी तैयार करवाई जा रही है।

नए गुरुग्राम में बसी 150 से ज्यादा सोसाइटियों में रहने वाले लोगों को भी 24 घंटे बिजली मिल सके, इसके लिए स्मार्ट ग्रिड योजना को नए गुरुग्राम में लागू करने का फैसला लिया गया है। योजना के तहत नए गुरुग्राम में भी बिजली के तारों और फीडरों को भूमिगत किया जाएगा। जिससे कि आंधी, बारिश आदि आने पर किसी तरह का फॉल्ट न आए। वहीं नए गुरुग्राम में बहुत से विकास कार्य भी चल रहे हैं। इनकी वजह से भी आए दिन बिजली के तार क्षतिग्रस्त होते रहते हैं। जिससे सोसाइटियों की बिजली गुल हो जाती है। अधिकारियों ने कहा कि इस योजना के पूरा हो जाने के बाद बिजली कटौती कम होगी। यदि किसी एक फीडर में दिक्कत आएगी, तो उससे जुड़े दूसरे फीडर से बिजली आपूर्ति तुरंत शुरू की जा सकेगी। अधिकारियों के अनुसार नए गुरुग्राम में मल्टीपल कनेक्शनों की बजाय सिंगल प्वाइंट कनेक्शन ज्यादा हैं। ऐसे में यहां योजना को पूरा करने में कम समय लगेगा और काम ज्यादा कठिनाइयों का सामना भी नहीं करना पड़ेगा।

बक्से के अंदर से निकाली जाएंगी तारें:

बिजली निगम के अधिकारियों ने बताया कि नए गुरुग्राम में जमीन का अधिग्रहण पहले से हो चुका है। ऐसे में इस काम के लिए अलग से जमीन उपलब्ध हो पाना मुश्किल है। नए गुरुग्राम में तारों को भूमिगत करने के लिए सड़कों किनारे सीमेंटेड बॉक्स बनाकर उनके अंदर से तारों को निकालने का प्रस्ताव बनाया गया है। जिससे कि तारों को भूमिगत करने के बाद उन बॉक्स के ऊपर फुटपाथ का भी निर्माण किया जा सकेगा। जिन्हें लोग चलने के लिए उपयोग कर सकेंगे और काम के लिए अतिरिक्त जगह की जरूरत नहीं पड़ेगी।

पैकेज में होगा काम:

अधिकारियों ने कहा कि नए गुरुग्राम में भी तारों को भूमिगत करने का काम अलग-अलग पैकेज में होगा। इसके लिए पहले से पुराने गुरुग्राम में इस योजना पर काम रही कंपनियों को ठेका दिया जा सकता है। इलाकों को विभाजित कर पैकेज बनाए जाएंगे। अलग-अलग कंपनी को वो पैकेज आवंटित होंगे। जिससे कि कम समय में कंपनियां काम पूरा कर सकें।

पुराने गुरुग्राम में 55 फीसदी केबल हो चुकी हैं भूमिगत:

स्मार्ट ग्रिड योजना पर पुराने गुरुग्राम में पहले से काम चल रहा है। तीन अलग-अलग कंपनियां सेक्टर-1 से 57 तक 11केवी एचटी केबल को भूमिगत करने का काम कर रही हैं। इन कंपनियों द्वारा 55 फीसदी काम पूरा भी किया जा चुका है। पुराने गुरुग्राम के इन सेक्टरों में 1927 किलोमीटर में से 1041 किलोमीटर एचटी केबल को अभी तक भूमिगत कर दिया गया है। इसके अलावा 174 फीडरों को भी भूमिगत करने के बाद आपस में जोड़कर बिजली निगम चालू भी कर चुका है। जिससे करीब एक दर्जन इलाकों में बिजली कटौती की समस्या में कमी आई है।

बयान:

सेक्टर-58 से 115 में भी तारों को भूमिगत करने की योजना बनाई जा रही है। इन सेक्टरों में विभाग 33केवी के केबल को भूमिगत करेगा। इसके लिए डीपीआर बन रही है। ऐसा होने से नए गुरुग्राम में बिजली की निर्बाध आपूर्ति हो सकेगी।

-जयदीप फौगाट, अधीक्षण अभियंता, डीएचबीवीएन (स्मार्ट ग्रिड)

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Preparation Power lines will be underground in 57 sectors of new Gurugram