DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  गुरुग्राम  ›  ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट से निराश होकर लौट रहे लोग

गुड़गांवऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट से निराश होकर लौट रहे लोग

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Wed, 05 May 2021 03:01 AM
ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट से निराश होकर लौट रहे लोग

गुरुग्राम। जिले में ऑक्सीजन कमी की समस्या ने विकराल रूप ले लिया है। रोजाना अस्पतालों से लेकर होम आइसोलेशन में भर्ती मरीजों की सांसें ऑक्सीजन मिलने की इंतजार में अटक रही है। अपनों की सांसें चलती रखने के लिए परिजन ऑक्सीजन का इंतजाम करने के लिए दिनभर भागदौड़ कर रहे हैं। लेकिन अब उनको भी ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट से ऑक्सीजन नहीं मिलने से निराश होना पड़ रहा है। ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट के बाहर परेशान लोग ऑक्सीजन मिलने की आस में घंटों इंतजार कर रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद उनको ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है।

खाली सिलेंडर नहीं होने का लगाया नोटिस

सेक्टर-37 स्थित सिनर्जी ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट के बाहर ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर नहीं होने का नोटिस लगा दिया गया। मंगलवार को ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर लेने के लिए दर्जनों लोग गुरुग्राम और दिल्ली से भी पहुंचे। लेकिन प्लांट के बाहर नोटिस लगा होता देख कई लोग वापस लौट गए। जबकि कई प्लांट के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मियों से सिलेंडर कब तक मिलेगा, उसके बारे में पूछ रहे थे। इसके अलावा प्लांट पर खाली सिलेंडर लेकर पहुंचे लोगों को भी निराशा ही हाथ लगी। प्लांट में रिफिलिंग करवाने आए लोगों को ऑक्सीजन गैस नहीं मिली। कई घंटे इंतजार करने के बाद वापस लौट गए।

अस्पतालों को मिल रही थी गैस

सेक्टर-37 प्लांट से अस्पतालों से लेकर आ रहे गैस सिलेंडर की गाड़ियों को प्लांट के अंदर जाने दिया जा रहा था। उनको गैस मिल रही थी, लेकिन होम आइसोलेशन में भर्ती संक्रमित मरीजों के परिजनों को अब प्लांट से गैस मंगलवार को नहीं मिल रही थी। गैस के लिए घंटों लोग इंतजार करते रहे, उसके बावजूद उनको निराशा ही हाथ लगी। प्लांट के बाहर हंगामा न हो, उसके लिए पुलिस भी सुरक्षा के तौर पर तैनात की गई। इसके अलावा प्लांट के बाहर परेशान लोगों को सही जानकारी भी नहीं दी जा रही है।

सेक्टर-14 प्लांट पर पुलिस का पहरा

सेक्टर-14 में स्थित ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट के बाहर पुलिस का पहरा मंगलवार को रहा। प्लांट पर अब लोगों को ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट से ऑक्सीजन नहीं मिल रही। यहां पर सिर्फ अस्पताल से आने वाले सिलेंडर और टैंकरों को ही ऑक्सीजन दी जा रही थी। जबकि इससे पहले ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट पर सैंकड़ों लोगों की लाइन लगती थी। मंगलवार को कई लोग ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर लेकर भरवाने के लिए पहुंचे। लेकिन उनको वहां पर मायूसी मिली। वह निराश होकर वापस लौट रहे थे। हालांकि, सुरक्षा के लिए मंगलवार को पुलिसकर्मियों की तैनाती प्लांट के बाहर की गई है।

प्रतिक्रिया

घर में बड़ा भाई होम आइसोलेशन में भर्ती है और उसका ऑक्सीजन का स्तर लगातार कम हो रहा है। अस्पतालों में बेड के लिए काफी प्रयास किया गया, लेकिन वो नहीं मिला। ऐसे में छोटा ऑक्सीजन सिलेंडर मिला था, उससे कुछ घंटे भाई को आराम मिला। गैस खत्म होने के बाद वो तीन प्लांट के चक्कर काटने के बाद सेक्टर-37 स्थित प्लांट में पहुंचे थे। उम्मीद थी कि यहां पर गैस मिलेगी, लेकिन गैस भी नहीं मिली।

-संजय कुमार, डीएलएफ फेज-1

रिश्तेदार कोविड संक्रमण से पीड़ित है। होम आइसोलेशन में उसका इलाज चल रहा है। ऑक्सीमीटर में ऑक्सीजन लेवल 90 तक पहुंच गया था और उनको सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। काफी प्रयास के बाद किसी से ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर मिला। लेकिन मंगलवार को पूरा दिन घूमने के बाद कहीं पर भी गैस नहीं मिली। अस्पतालों में भर्ती करने का प्रयास किया, लेकिन बेड नहीं मिला।

- प्रभात सिंह, शक्ति नगर

संबंधित खबरें