DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › गुरुग्राम › छह इलाकों में सबसे ज्यादा संक्रमित मिल रहे
गुड़गांव

छह इलाकों में सबसे ज्यादा संक्रमित मिल रहे

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Mon, 02 Aug 2021 11:30 PM
छह इलाकों में सबसे ज्यादा संक्रमित मिल रहे

गुरुग्राम। मिलेनियम सिटी में स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों में जुटा हुआ है। संक्रमण से बचाव के लिए लोगों से बार-बार कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की अपील भी की जा रही है। बावजूद लोग लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिसकी वजह से संक्रमण पर पूरी तरह अंकुश पाना कठिन हो रहा है। जिले में नए संक्रमित मरीज मिलने का सिलसिला अभी भी लगातार जारी है। सबसे ज्यादा मरीज छह इलाकों से आ रहे हैं। जो स्वास्थ्य विभाग के लिए सिर दर्द बने हुए हैँ।

स्वास्थ्य विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार जुलाई माह में जिले में कोरोना से संक्रमित 210 मरीज मिले थे। इनमें से आधे से ज्यादा मरीज छह इलाकों से मिले हैं। जो कोरोना का हॉट-स्पॉट बने हुए हैं। इन हॉट-स्पॉट इलाकों में तिगरा, वजीराबाद, सुखराली, चंद्रलोक, चौमा और बादशाहपुर शामिल है। विभाग की रिपोर्ट के अनुसार जुलाई के 31 दिनों में सबसे ज्यादा संक्रमित 36 मरीज तिगरा इलाके से मिले थे। वहीं 22 संक्रमित मरीज चंद्रलोक इलाके से और 20 संक्रमित मरीज वजीराबाद से मिले थे। इसके अलावा बादशाहपुर, चौमा और खुखराली से 12-12 संक्रमित मरीज मिले थे। विभाग के अधिकारियों के अनुसार इन इलाकों में प्रवासी लोग ज्यादा हैं। वहीं यहां की मूल की आबादी के अलावा बड़ी संख्या में इन छह इलाकों में लोग किराये पर भी रहते हैँ। इनमें मल्टीनेशनल कंपनियों में काम करने वालों के अलावा फैक्ट्रियों में काम करने वाले श्रमिक और मजदूर भी हैं। जो काम के सिलसिले में एक से दूसरी जगह आते जाते हैं और कई लोगों के संपर्क में भी आते हैं। ऐसे में इनके संक्रमित होने का खतरा ज्यादा है। वहीं कुछ हद तक बचाव के नियमों में लापरवाही भी इसका कारण है।

हॉट-स्पॉट इलाकों में मॉनिटरिंग बढ़ाई:

कोरोना के हॉट-स्पॉट बने छह इलाकों में स्वास्थ्य विभाग ने मॉनिटरिंग बढ़ा दी है। यहां नियमित तौर पर कोरोना जांच के लिए शिविर लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा लक्षणों वाले मरीजों की भी पहचान करके उनकी जांच करवाई जा रही है। इसके अलावा यहां अधिक से अधिक लोगों के टीकाकरण पर भी जोर दिया जा रहा है। जिससे कि इन हॉट-स्पॉट वाले इलाकों में रहने वाले लोग कोरोना संक्रमित की तीसरी संभावित लहर से सुरक्षित रह सकें।

सात इलाकों में जुलाई में एक भी मरीज नहीं मिला:

एक ओर जहां छह हॉट-स्पॉट इलाके जिला स्वास्थ्य विभाग के लिए सिर दर्द बने हुए हैं, वहीं दूसरी ओर जिले के सात इलाके ऐसे भी हैँ, जहां पूरे जुलाई माह में एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला। ऐसे दावा स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में किया गया है। रिपोर्ट अनुसार जिन सात इलाकों में एक से 31 जुलाई के बीच एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला, उनमें सोहना, मंदपुरा, मानेसर, खांडसा, घंघोला, गुड़गांव गांव और हेलीमंडी शामिल है। इन इलाकों में लोगों में बढ़ी जागरूकता के कारण ही संक्रमित की स्थिति पर नियंत्रण पाया जा सका है। इन इलाकों में रहने वाले लोगों ने नियमों का सख्ती से पालन करते हुए और समय पर टीकाकरण कराते हुए खुद को सुरक्षित रखने में अहम भूमिका निभाई है। यह सात इलाके बाकी इलाकों के लिए मिसाल की तौर पर उभर का सामने आए हैँ।

24 घंटे में तीन नए मरीज मिले, तीन ठीक हुए:

जिले में बीते 24 घंटे में सोमवार को कोरोना से संक्रमित तीन नए मरीजों की जिला स्वास्थ्य विभाग ने पहचान की। कुल संक्रमित मरीजों की संख्या जिले में अब 180903 हो गई है। राहत इस बात की रही कि सोमवार को किसी भी संक्रमित मरीज की मौत नहीं हुई। वहीं तीन मरीज संक्रमित को मात देकर स्वस्थ भी हो गए। जिसे अब तक ठीक हो चुके कुल मरीजों की संख्या 179899 हो गई और मृतकों का आंकड़ा 920 पर ही स्थिर रहा। जिले में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 84 बची है। इनमें से 74 होम आइसोलेशन में हैं और 10 का इलाज अस्पतालों में चल रहा है। कोरोना जांच के लिए जिले में सोमवार को 3555 नमूने लिए गए। इनमें से 625 नमूनों की जांच रैपिड एंटीजन टेस्ट से हुई। वहीं 2930 नमूने आरटीपीसीआर जांच के लिए एकत्रित किए गए। 1717 नमूनों की जांच रिपोर्ट अभी भी सरकारी लैब से आना बाकी है।

बयान:

हॉट-स्पॉट इलाकों में जांच और टीकाकरण दोनों पर जोर दिया जा रहा है। कांटेक्ट ट्रेसिंग को भी बढ़ाया गया है। लोगों को जागरूक रहने की जरूरत है। संक्रमण का खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है। इसके लिए लोगों से अपील है कि वह संक्रमण से बचाव के नियमों का पूरी सख्ती से पालन करें।

-डॉ. जय प्रकाश, जिला सर्विलांस अधिकारी

संबंधित खबरें