DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुरुग्राम में बनेगा इंटर स्टेट क्राइम सचिवालय

गुरुग्राम में बनेगा इंटर स्टेट क्राइम सचिवालय

एक राज्य में वारदात करके दूसरे राज्य में भागने वाले अपराधी अब बच नहीं पाएंगे। इसको लेकर बुधवार को गुरुग्राम में चार राज्यों के आला अधिकारियों ने समन्वय बैठक की। साढ़े तीन घंटे चली इस मैराथन बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी पहुंचे। मुख्यमंत्री ने चार राज्यों के पुलिस अधिकारियों की एक साथ बैठने की पहल को अच्छा कदम बताया। इस दौरान उन्होंने अपराधियों की नकेल कसने के निर्देश दिए।

बैठक में हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) मोहम्मद अकील, एडीजीपी अंबाला रेंज आर सी मिश्रा, उत्तर प्रदेश के एडीजीपी (कानून और व्यवस्था, आनंद कुमार, उत्तर प्रदेश के एडीजीपी अपराध चंद्र प्रकाश, राजस्थान जयपुर रेंज एडीजीपी हेमंत प्रियदर्शी और दक्षिणी दिल्ली के विशेष पुलिस आयुक्त (कानून और व्यवस्था)पी कामराज, हरियाणा के आईजीपी सीआईडी अनिल कुमार राव भी उपस्थित थे। बैठक में फैसला हुआ कि इसमें अंतरराज्यीय अपराध पर अंकुश लगाने के लिए चार राज्यों के इंटर स्टेट क्राइम सचिवालय का मुख्यालय गुरुग्राम में बनवाया जाएगा। इस मुख्यालय में चारों राज्यों के नोडल अधिकारी बैठेंगे, जो अपराध होने पर तत्काल अपने राज्य के जिलों की पुलिस को सूचित करेंगे और अपराधियों को पकड़ने में मदद करेंगे।

एडीजीपी अकील मोहम्मद ने बताया हर तीन महीने में अंतरराज्यीय अपराध नियंत्रण पर बैठक होगी। इसमें चारों राज्यों के अधिकारी मौजूद रहेंगे। अगली बैठक अगस्त में उत्तर प्रदेश के नोएडा में होगी। बैठक में अपराध नियंत्रण के तौर-तरीकों पर विस्तार से बात की गई। बैठक में आला अधिकारियों के साथ 50 अधिकारी मौजूद रहे। जिसमें डीजी स्तर के सात अधिकारी, दस अधिकारी आईजी स्तर और एसपी स्तर के 31 अधिकारी शामिल रहे।

19 अपराधियों की सूची सौंपी

हरियाणा के एडीजीपी मोहम्मद अकील ने बताया कि चारों राज्यों की पुलिस ने अपने राज्यों के गैंग्स, गैंगस्टर और मोबाइल नंबर आदि साझा किए। इसके अलावा भगोड़े, इनामी बदमाशों का रिकार्ड भी साझा किया गया, जबकि हरियाणा पुलिस ने 19 अपराधियों और तकरीबन 80 से ज्यादा भगोड़े व बेलजंपरों की सूची दूसरे राज्यों के अफसरों को सौंपी।

बॉक्स:

यूपी पुलिस ने किया स्वागत:

हरियाणा सरकार की तरफ से की गई इस पहल को उत्तर प्रदेश पुलिस ने स्वागत किया है। बैठक खत्म होने के बाद यूपी पुलिस ने अपने आधिकारिक टि्वटर हैंडल से किए ट्वीट में कहा कि हरियाणा पुलिस की इस पहल से हम खुश हैं। इस प्रकार की बैठक होने से समवन्य बढ़ेगा। इससे अंतरराज्यीय अपराध को रोकने में आसानी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Inter-Crime Crime Secretariat in Gururgram