DA Image
6 अप्रैल, 2020|8:22|IST

अगली स्टोरी

कॉलेज की छात्राओं ने अपहर्ताओं से बचाव करना सीखा

कॉलेज की छात्राओं ने अपहर्ताओं से बचाव करना सीखा

जिला समेत देशभर में आए दिन महिला अपराध सामने आ रहे हैं। इससे लड़कियों के बचाव के लिए राजकीय कन्या महाविद्यालय ने पहल की है। इसके तहत कन्या महाविद्यालय में इन दिनों लड़कियों को आत्मरक्षा के गुर सिखाए जा रहे हैं। इसके तहत अपहर्ताओं से बचाव और चाकू से हमले से बचाव आदि के भी गुर सिखाए जा रहे हैं।

दरअसल, कॉलेज की ओर से छात्राओं को आत्मरक्षा सिखाने के लिए 26 अगस्त से प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसके तहत जूडो-कराटे के साथ आत्मरक्षा की तकनीक भी सिखाई जा रही है। एक महीने तक चलने वाले प्रशिक्षण में विशेषज्ञ नरेंद्र सिंह सेक्टर-14 के राजकीय कन्या महाविद्यालय में 100 छात्राओं को विभिन्न तकनीक सिखा रहे हैं। इस सिलसिले में प्राचार्या सुशीला कुमारी ने दूसरी छात्राओं से भी प्रशिक्षण में शामिल होने की अपील की।

गर्दन पर चाकू रखने से बचना सिखाया

सेल्फ डिफेंस एक्सपर्ट और खेल विभाग के कोच नरेंद्र सिंह ने बताया कि महाविद्यालय की छात्राओं को तलवार की तरह साइड कट मारने से बचाव और सामने से चाकू से हमले से बचाव आदि की जानकारी दी है। इसके अलावा बताया कि किसी ने गर्दन पर चाकू रख दिया तो कैसे बचें। छात्राओं को अपनी सुरक्षा के लिए वजन को संतुलित रखने की भी ट्रेनिंग दे रहे हैं। उन्हें बता रहे हैं कि संतुलित भार के लिए उनका खान पान कैसा हो।

सिर झुकाकर करें हमला

नरेंद्र सिंह ने कहा कि आजकल लड़कियों और महिलाओं को चाकू के बल पर अगवा करने की घटनाएं सुनने को ज्यादा मिल रही हैं। ऐसी परिस्थिति सामने आने पर छात्राएं कैसे बचाव कर सकती हैं, इसके उपाय बताए हैं। बताया कि गर्दन पर चाकू रखा है तो पहले चाकू को दोनों हाथों से पकड़ कर घूमकर पीठ लगाएं। इसके बाद हमलावर की चाकू छीन कर उसके गुप्तांग पर हमला करें। सिर झुकाकर घुटने से वार भी किया जा सकता है।

प्रशिक्षण में रूचि कम

महाविद्यालय में हजारों छात्राएं पढ़ाई करती हैं, मगर कॉलेज में ही संचालित किए जा रहे सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षण में महज 100 छात्राएं ही हिस्सा ले रहीं हैं, जो जागरूकता की कमी को दिखाता है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में भी छात्रावास की छात्राएं ही शामिल हो रही हैं। ऐसी छात्राओं का कहना है कि घर जाते समय इस तरह की कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में इस प्रशिक्षण से हम अपनी आत्मरक्षा में सक्षम होंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:How to protect themselves in adverse situations learners learned tricks