DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › गुरुग्राम › हाईवे बंद होने से कई किलोमीटर पैदल चलना पड़ा
गुड़गांव

हाईवे बंद होने से कई किलोमीटर पैदल चलना पड़ा

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Wed, 27 Jan 2021 03:01 AM
हाईवे बंद होने से कई किलोमीटर पैदल चलना पड़ा

गुरुग्राम। किसानों की ट्रैक्टर तिंरगा यात्रा के मद्देनजर गुरुग्राम पुलिस ने मानेसर घाटी के पास दिल्ली-जयपुर हाईवे को कई किलोमीटर तक बंद कर दिया था। इसके चलते वाहनों की आवाजाही बिल्कुल बंद हो गई थी। ऐसे में आस-पड़ोस में रहने वाले लोगों को भी अपने घर जाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कई लोगों ने अपना पहचान पत्र भी दिखाया। लेकिन पुलिस के आगे उनकी एक नहीं चली। वहीं जिन लोगों को दिल्ली जाना था। वह पैदल ही दिल्ली की ओर चल दिए। कई लोगों ने पुलिसकर्मियों से गुहार भी लगाई,लेकिन पुलिस ने कोई राहत नहीं दी।

हाईवे बंद होने के कारण दिल्ली और जयपुर जाने वाले राहगीरों को कई किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। राहगीर सामान और बच्चों को लेकर पैदल ही हाईवे पर चल दिए। उनको दस से 15 किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। उसके बाद ही राहगीरों को परिवहन की व्यवस्था मिली। हालांकि दिल्ली जाने के लिए लोग मानेसर घाटी में रोहतक,झज्जर और रेवाड़ी से भी पहुंचे थे।

दिव्यांग जाम में फंसा

मानेसर घाटी में पुलिस द्वारा रास्ता बंद करवाने के लिए हाईवे पर लगाए गए भार वाहनों के बीच एक दिव्यांग फंस गया। वह एक घंटे तक फंसा रहा और वह रोने लगा था। उनको खेड़की दौला से रेवाड़ी से पहले गांव में जाना था। जब इसके बारे में पुलिस को पता चला,तो एसएचओ मानेसर और एसएचओ आईएमटी मानेसर ने खुद उनकी स्कूटी चलाकर बाहर निकाला। इसके अलावा परिवार के फंसे बच्चे को भी पुलिस ने निकलवाया।

रात से हाईवे पर खड़े हैं ट्रक

पुलिस ने रात से ही इंतजाम करने शुरू कर दिए थे। जरूरी सेवाओं वाले ट्रकों को छोड़कर पुलिस ने सभी को हाईवे पर खड़ा कर दिया। करीबन दो किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ था। कई ट्रक चालकों को गुजरात और राजस्थान जाना था लेकिन वह रात से ही मानेसर में फंसे हुए थे। ऐसे में ट्रक चालकों ने ट्रक के अंदर ही खाने का इंतजाम किया हुआ था। वह खाना बनाकर वहीं खा रहे थे। इसके अलावा मोबाइल में फिल्म भी देख रहे थे। र्मियों से गुहार भी लगाई,लेकिन पुलिस ने कोई राहत नहीं दी।

संबंधित खबरें