DA Image
24 नवंबर, 2020|7:12|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली-एनसीआर के लोगों को स्वस्थ बनाएगा हरियाणा: धनखड़

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (दिल्ली-एनसीआर) के चार करोड़ लोगों के स्वास्थ्य की चिंता हरियाणा कर रहा है। हमारा प्रयास है कि हम दिल्ली का हर घर नाश्ते की टेबल से लेकर से लेकर डिनर तक हमारे ताजा उत्पाद का स्वाद ले। उत्पाद से लेकर बिक्री तक सारी अवधारणाओं को साबित करके इसे हमारे किसान साबित करेंगे। यह कहना है हरियाणा के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ का।

गुरुवार को पैरी अर्बन एग्रीकल्चर की दो दिवसीय कार्यशाला के दौरान उन्होंने ये बातें मीडिया से कहीं। एक सवाल के जवाब में कृषि मंत्री ने कहा कि हरियाणा के किसी भी हिस्से से हम दिल्ली को ताजा दूध निकालकर बिना किसी प्रोसेस के ताजा ही पहुंचा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हर रोज दिल्ली में 10 से 15 हजार एमटी फ्रूट दिल्ली की मंडी में आता है। हर व्यक्ति अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हो रहा है। स्वास्थ्य के लिए लोग पैसा भी खर्च करते हैं। यहां के किसानों को हम अपने उत्पाद उगाने से लेकर बेचने का काम सीधे करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

किसान हित में बनें कानून:

पैरी अर्बन एग्रीकल्चर की अवधारणा को स्पष्ट करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि इस कार्यशाला का उद्देश्य पैरी अर्बन एग्रीकल्चर की अवधारणा को स्पष्ट करने के अलावा ऐसे विषयों पर पर चर्चा की जिससे किसान हित में कानून बने। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत किसानों को ढांचागत सुविधाएं उपलब्ध कराना भी इसका हिस्सा है। किसानों को ट्रेनिंग देना, उद्यमशील किसान बनाना और एग्री बिजनेस के गुर सिखाना भी इस कंस्पेट का हिस्सा है। उन्होंने कहा इसके लिए सरकार लगातार काम कर रही है। किसान अपना उत्पाद सीधे उपभोक्ता को दे तो उसकी गुणवत्ता की गारंटी हो, ये बहुत जरूरी है। इसके अलावा विश्वसनीयता और सर्विस को भी इसमें शामिल किया है। धनखड़ ने बताया कि पैकिंग और मार्केटिंग में भी किसानों का विभाग सहयोग करेगा। इससे दिल्ली के लोगों के स्वास्थ्य के लिए हरियाणा का किसान अपने ताजे उत्पाद पहुंचाएगा।

लोकेशन बड़ी ताकत:

कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ ने कहा कि हरियाणा की भौगोलिक स्थिति ऐसी है जो तीन तरफ से दिल्ली को घेरता है, इसलिये हरियाणा का किसान यहां सबसे पहले जिन्दा मछली, ताजा दूध, सब्जी, फल फूल सबसे पहले पहुंचा सकता है। इसलिए हरियाणा को इसका फायदा है। उन्होंने कहाकि सड़क और रेल के मार्ग से भी अच्छे से जुड़ा है, जिसका फायदा दिल्ली और हरियाणा दोनों का है।

100 करोड़ का बाजार:

कृषि मंत्री ओ पी धनखड़ ने कहाकि हरियाणा छोटा राज्य है और यहां का किसान मेहनती है। दिल्ली एनसीआर के चार करोड़ लोग रोजाना करीब 100 करोड़ रुपये खर्च करते हैं। यदि हम दिल्ली के तीन तरफ से हैं तो इस लिहाज से हम 75 करोड़ रोजाना यानी 27 हजार करोड़ सालाना कमा सकते हैं। इससे हमारा किसान खुशहाल होगा और दिल्ली को ताजा और स्वास्थ्यवर्धक उत्पाद मिल सकेगा। चूंकि आज हर व्यक्ति आर्गेनिक उत्पाद खाना चाहता है, इसलिए हरियाणा का किसान भी आर्गेनिक पर आए, हम इस प्रयास में लगे हैं। हमने हरियाणा में आर्गेनिक गांव बनाए हैं।

टेक्नोलॉजी मददगार बनेगी :

धनखड़ ने कहा कि आज स्मार्ट टेक्नोलॉजी का जमाना है। हमारे अग्रणी किसान अपने उत्पाद को सीधे अपने फोन से अनेक तरह की तकनीक से एक दूसरे जोड़कर सीधे उपभोक्ता को ये बता सकते हैं कि आपको किस खेत की सब्जी, फल दिए जा रहे हैं, किस पशु का दूध आप पी रहे हैं ये जान सकेंगे। धनखड़ ने कहा कि हमारा प्रयास किसान की आय को बढ़ाने के साथ उत्पाद की गुणवत्ता बढ़ाने पर भी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Haryana will make Delhi-NCR health healthy: Dhankar