DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेल अधिकारी ने स्वीमिंग पूल पर मिली खामियां

गुरुग्राम। कार्यालय संवाददाता

जिला खेल अधिकारी परसराम को कमला नेहरू पार्क के स्वीमिंग पूल पर खामियां मिली। बुधवार सुबह सात बजे खेल अधिकारी स्वीमिंग पूल का निरीक्षण किया। उन्होंने स्वीमिंग पूल के आसपास साफ सफाई नहीं होने और छोटे बच्चों को स्वीमिंग करते समय प्रशिक्षकों के सतर्क नहीं रहने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने प्रशिक्षकों को तत्काल निर्देश दिए कि स्वीमिंग पूल में तैराकी के दौरान किसी को अकेला नहीं छोड़े। उन्होंने मौके पर लोगों और खिलाड़ियों से से तैराकी भी कराई। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि स्कूलों, होटलों और क्लबों में चल रहे डेढ़ सौ से अधिक प्राइवेट स्वीमिंग पूलों की जांच होगी। खामियां मिलने पर स्वीमिंग संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

150 सदस्य करते हैं तैराकी:

स्वीमिंग पूल में प्रतिदिन 150 से अधिक सदस्य तैराकी करने आते हैं। ये सदस्य कमला नेहरू पार्क समिति की ओर से बनाए गए हैं। इनसे 1400 रुपये प्रति माह शुल्क लिया जाता है। सुबह 6.30 बजे से तैराकी शुरू हो जाती हैं। यहां पर नौ वर्ष से लेकर 50 साल तक लोग आते हैं।

विभाग से दो कोच नियुक्त:

खेल विभाग के अनुसार स्वीमिंग करने वाले 24 से अधिक खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने के लिए दो कोच नियुक्त किए गए हैं। इसमें जगबीर सिंह और रविंद्र कुमार शामिल हैं। जो खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देकर प्रतियोगिता के लिए तैयार करते हैं।

बिल्डिंग हो चुकी है जर्जर:

कमना नेहरू पार्क के स्वीमिंग पूल की चारदीवारी से लेकर बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है। तैराकी करने वाले खिलाड़ियों और लोगों को डर बना रहता है कि जर्जर बिल्डिंग से कोई हादसा ना हो जाए। खेल विभाग के अधिकारियों ने जर्जर बिल्डिंग को लेकर कई बार मरममत कराने की मांग भी उठाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Game officials found flaws on the swimming pool