DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  गुरुग्राम  ›  घर में कैसिनों खेल रहे पांच युवक गिरफ्तार
गुड़गांव

घर में कैसिनों खेल रहे पांच युवक गिरफ्तार

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Sat, 29 May 2021 11:40 PM
घर में कैसिनों खेल रहे पांच युवक गिरफ्तार

गुरुग्राम। सुशांतलोक फेज-एक इलाके में स्थित मकान के बेसमेंट में चलाए जा रहे कैसिनो का शुक्रवार रात को पुलिस ने भंडाफोड़ किया। पुलिस ने मौके से पांच युवकों को गिरफ्तार किया और उनके खिलाफ सेक्टर-29 थाने में मामला दर्ज किया। पुलिस ने पांच आरोपियों को जमानत पर छोड़ दिया। जबकि मकान मालिक और कैसिनों का संचालन करने वाले प्रोटोकॉल ऑफिसर को रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ करना चाहती थी। लेकिन कोर्ट ने रिमांड देने से मना कर दिया। पुलिस को मकान के बेसमेंट से 290 बोतल विदेशी शराब,काफी संख्या में कैसिनों के क्वाइन के साथ ही ताश ही एक दर्जन ताश की गड्डियां बरामद की।

रात में की गई छापेमारी

-एसीपी डीएलएफ करन गोयल ने बताया कि पुलिस टीम को घर में कैसिनों चलने की जानकारी मिली थी। उसके बाद टीम को तैयार कर सुशांत लोक फेज-एक के मकान नंबर बी-33ए में शुक्रवार देर रात को छापेमारी की गई। मकान के बेसमेंट में पूरा इंतजाम था और वहां पर पांच लोग बैठ कर कैसिनों खेल रहे थे। पुलिस को मकान से लाखों रुपये की भारी संख्या में विदेशी शराब भी मिली। जबकि आरोपी के पास शराब रखने का लाइसेंस नहीं था। ऐसे में पुलिस ने आबकारी विभाग को भी सूचना देकर कार्रवाई के लिए मौके पर बुलाया गया।आरोपियों की पहचान कैसिनो संचालक व मकान मालिक प्रवेश पाल कपूर,साउथ सिटी-फेज-एक निवासी कवलजीत सिंह सेठी, सेक्टर-43 निवासी नरेश कुमार,डीएलएफ फेज-चार निवासी मोहनलाल एवं सुशांत लोक में ही रहने वाले हरेंद्र सिंह के रूप में की गई। सभी बिना मास्क लगाए कैसिनों खेल रहे थे।

दूतावास में काम करता है कैसिनों संचालक

पुलिस की जांच में सामने आया कि कैसिनों संचालक आरोपी प्रवेश पाल कपूर ही अपने घर के बेसमेंट में काफी समय से कैसिनों चला रहा था। बेसमेंट में कैसिनों के दौरान लोगों के मंनोरंजन के लिए शराब और खाने की व्यवस्था भी होती थी। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी कैसिनों संचालक प्रवेश पाल कपूर दिल्ली स्थित एक दूतावास में बतौर प्रोटोकॉल ऑफिसर काम करता है। उसके घर से मिली विदेशी शराम वह विदेश से लेकर असया है। पुलिस जल्द ही आरोपियों से जल्द दोबारा पूछ की जाएगी।

काफी समय से चल

पुलिस की जांच में सामने आया है कि आरोपी काफी समय से कैसिनों को घर में चला रहा था। कैसिनों में जानकार लोग आते है और वह रुपये देकर चिप्स खरीदते थे। उन चिप्स के माध्यम से घर में जुआ खेलते थे। जुआ खेलने के दौरान यह लोग रुपये नहीं लगाते थे। सिर्फ चिप्स के माध्यम से ही खेलते थे।

संबंधित खबरें