Embarrassing: Despite the investigation of three ACP, right action was not taken - तीन एसीपी की जांच के बाद भी कार्रवाई नहीं DA Image
18 नबम्बर, 2019|2:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन एसीपी की जांच के बाद भी कार्रवाई नहीं

गुरुग्राम। कार्यालय संवाददाता

बुजुर्ग महिला के साथ उसके बच्चों द्वारा धोखाधड़ी, नशीली दवा देकर अपहरण करने मामले को पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया। इस केस में अधिकारी बदलते गए, लेकिन किसी ने भी सही जांच नहीं की। महिला ने पुलिस अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि उनके साथ हुई इस घटना पर कारवाई के लिए पिछले पांच साल से गुरुग्राम पुलिस अधिकारियों के कार्यालयों में चक्कर काट रही थीं। जिस पुलिसकर्मी ने सही जांच की थी, उसे साजिशन निलंबित कर दिया गया। इस मामले में गलत रिपोर्ट करने वाले तीन एसीपी और एसएचओ पर कारवाई होनी चाहिए। अगर कोर्ट न होता तो शायद यह कारवाई न हुई होती। मेरे साथ हुई धोखाधड़ी करने वाले आरोपी बच निकलते।

साजिशन किया निलंबित

महिला ने बताया कि शिकायत देने के बाद सब-इंस्पेक्टर बाबू लाल ने सही जांच कर आपराधिक मामला दर्ज करने की सिफारिश की थी। महिला ने आरोप लगाया कि मेरी शिकायत पर सही जांच करने वाले उप-निरीक्षक बाबूलाल को साजिशन निलंबित कर दिया गया। जिसकी कोई गलती नहीं थी। तीनों एसीपी ने जांच में इस मामले को सिविल बताया। लेकिन सही मायने में यह आपराधिक मामला था।

गायब किए गए दस्तावेज

महिला ने आरोप लगाया कि उनके द्वारा दिए गए कई दस्तावेज गायब कर दिए। उनकी जगह पर एसएचओ अरविंद दहिया की रिपोर्ट लगा दी गई। जबकि वह ऑन ड्यूटी मौजूद ही नहीं थे। ऐसे में दिल्ली के डॉक्टर को बचाने के लिए उसकी रिपोर्ट गायब कर दी गई।

आरोपियों को किया बचाने का प्रयास

महिला ने आरोप लगाया कि पुलिस अधिकारियों ने जानबूझकर आरोपियों को बचाने का प्रयास किया। इसीलिए कोर्ट का सहारा लेना पड़ा। अगर पुलिस सही समय पर कारवाई करती तो आरोपी आज आरोपी सलाखों के पीछे होते।

प्रधानमंत्री से की थी शिकायत

महिला ने बताया कि वह कारवाई के लिए पांच साल से भटक रही थी। ऐसे में उन्होंने प्रधानमंत्री को भी अपनी शिकायत भेजी थी। उसके बाद एसीपी सदर इंद्रजीत यादव ने भी उनको बुलाया था। उन्होंने पहले के दो एसीपी की रिपोर्ट को सही मान कर वही रिपोर्ट बना दी गई। यह सब जानबूझ कर किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Embarrassing: Despite the investigation of three ACP, right action was not taken