DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › गुरुग्राम › डीटीपी अब रेन वॉटर हारवेस्टिंग सिस्टम को करेंगे चेक
गुड़गांव

डीटीपी अब रेन वॉटर हारवेस्टिंग सिस्टम को करेंगे चेक

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवPublished By: Newswrap
Wed, 30 Jun 2021 03:00 AM
डीटीपी अब रेन वॉटर हारवेस्टिंग सिस्टम को करेंगे चेक

जिले में अवैध कॉलोनियों पर सख्ती बरतने के बाद अब डीटीपी प्रवर्तन आरएस बाट शहर के रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की जांच करेंगे। जिला उपायुक्त ने मंगलवार को डीटीपी को रेन वॉटर हार्वेस्टिंग की जांच करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। डीटीपी अगले सप्ताह से बिल्डर एरिया से लेकर सेक्टरों और कॉलोनियों में बने रेन वॉटर हार्वेस्टिंग की जांच करेंगे और यह फेल होने पर उसे ठीक करने का मौका दिया जाएगा। ऐसा नहीं करने पर वालों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

जिला उपायुक्त डॉ. यश गर्ग ने रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को लेकर मार्च में समीक्षा की। उन्होंने मानसून से पहले सभी स्ट्रक्चरों को 30 जून तक ठीक करने के लिए निर्देश दिए थे। लेकिन डीसी को आशंका है कि सरकारी एजेंसियों और बिल्डरों की तरफ से रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम ठीक नहीं कराए गए। जो बारिश में जलभराव होने की संभावना को देख रहे है। इसलिए डीटीपी को जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

सर्वे में खामियां मिलने पर भी नहीं हुआ ठीक:

शहर में 413 रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम नगर निगम क्षेत्र में हैं। सर्वे में जिन सिस्टम में खामी पाई गई थी। उन्हें वॉपकोस की मदद से दूर करने थे। वित्तवर्ष में 150 नए रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाने का लक्ष्य रखा गया था। कितना काम पूरा हुआ, इसकी जांच डीटीपी करेंगे। डॉ. गर्ग ने सिस्टम की मैपिंग कर वन मैप गुरुग्राम पर अपलोड करने के निर्देश दिए थे।

सोमवार को करेंगे गुरुजल टीम के साथ मीटिंग

डीटीपी के अनुसार सोमवार को गुरुजल टीम के साथ मीटिंग करेंगे। शहर में कहां पर कितने रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बने है और कार्रवाई करने का क्या प्रावधान है। इसकी पूरी जानकारी करने के बाद टीम बनाई जाएगी। इसके लिए नगर निगम, एचएसवीपी, डीटीपी प्लानिंग के अलावा अन्य विभागों के साथ बैठक करेंगे। इसके बाद विभागों की टीम चेक किया जाएगा। जहां पर सिस्टम फेल मिलेंगे, उनको एक दिन का टाइम दिया जाएगा। एक दिन में ठीक नहीं करने पर टीम जुर्माना से लेकर अन्य कार्रवाई करेगी।

उपायुक्त के निर्देश मिले है कि बिल्डर एरिया से लेकर सेक्टर में बने रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की जांच करके कार्रवाई करें। इस बार जलभराव को लेकर सख्त कदम उठाए जा रहे हैं।

-आएस बाट, डीटीपी, प्रवर्तन गुरुग्राम

संबंधित खबरें