DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR गुरुग्रामशहर की 40 फीसदी स्ट्रीट लाइट खराब

शहर की 40 फीसदी स्ट्रीट लाइट खराब

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 06:20 PM
शहर की 40 फीसदी स्ट्रीट लाइट खराब

सोहना। नगर परिषद सीमा क्षेत्र में लगी 40 फीसदी से ज्यादा स्ट्रीट लाइट खराब है। ठेकेदार को कई बार ठीक करने के लिए नोटिस भी दिया गया,लेकिन उसके बावजूद स्ट्रीट लाइट ठीक नहीं हुई। शाम से ही ज्यादातर सड़क और गलियों में अंधेरा रहता है। इसके कारण लोगों को आने-जाने में दिक्कत के साथ-साथ असुरक्षित भी महसूस होता है। जल्द ही ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट किया जाने की तैयारी शुरू कर दी है।

नगर परिषद सीमा क्षेत्र में शहरी और ग्रामीण क्षेत्र को जाने वाले मार्गों पर लगी 1000 के लगभग स्ट्रीट लाइटों की चमक एक बार फिर से धूंधली होने लगी है। ठेकेदार ने दीपावली से पहले शहर को जगमग करने के इरादे से खराब स्ट्रीट लाइटों को ठीक करने की कवायद शुरु की थी। जिससे शहर की 50 से 60 फीसदी खराब स्ट्रीट लाइटें ठीक की थी। लेकिन बहुत ही जल्द शहर की सड़कों पर स्ट्रीट लाइटें खराब होने लगी है। सड़कों पर व बाजारों में अंधेरा छाने लगा है।

15 लाख रुपये में खरीदी गई स्ट्रीट लाइट

नगर परिषद ने शहर की खराब स्ट्रीट लाइटों को दुरुस्त करने के लिए 15 लाख रुपये खर्च किए थे। जिससे शहर की सड़कों पर रात के समय में अंधेरा छट सके। जिसके लिए नगर परिषद ने इसका ठेका छोड़ा था। लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के चलते सड़कों पर अंधकार छाने लगा है।

भगवान भरोसे जलती है स्ट्रीट लाइट

नगर परिषद ने बीते 5 वर्ष में शहर की सड़कों से लेकर बाजारों को जगमग करने के लिए करीब 12 करोड़ रुपये स्ट्रीट लाइट लगाने पर खर्च किए थे। लेकिन आज तक रात के समय में स्ट्रीट लाइटों की जांच करने के लिए एक कर्मचारी तक नियुक्त नहीं किया। यही कारण है स्ट्रीट को बंद करने व जलाने का जिम्मा न होने के कारण जल्दी-जल्दी खराब हो रही है।

कोट:

ठेकेदार द्वारा स्ट्रीट लाइटों को दुरुस्त करने में लापरवाही बरती जा रही है। जल्द ही परिषद अधिकारियों से बैठक करने के बाद ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा।

जितेंद्र कुमार गर्ग, एसडीएम, सोहना

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें