Monday, January 24, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR गुरुग्रामसामाजिक विज्ञान का सरल पेपर देख खुश हुए दसवीं के छात्र

सामाजिक विज्ञान का सरल पेपर देख खुश हुए दसवीं के छात्र

हिन्दुस्तान टीम,गुड़गांवNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 07:00 PM
सामाजिक विज्ञान का सरल पेपर देख खुश हुए दसवीं के छात्र

गुरुग्राम। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) दसवीं की मंगलवार से मुख्य विषय की परीक्षा शुरू हुई। परीक्षा मंगलवार को जिले के विभिन्न स्कूलों में सुबह साड़े ग्यारह बजे से दोपहर एक बजे तक हुई। मंगलवार को दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों का समाजिक विज्ञान की परीक्षा थी। पेपर आसान होने पर बच्चों के चेहरे पर खुशी साफ दिखी। वहीं बच्चों के चेहरे पर खुशी देख अभिभावक भी काफी खुश नजर आए। जिले में करीब 30 ज्यादा परीक्षा केंद्रों पर करीब आठ हजार से ज्यादा विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। पहला पेपर आसान आने से छात्रों के चेहरे पर खुशी साफ नजर आई। परीक्षार्थियों का कहना था कि सभी प्रश्न पाठ्यक्रम से ही थे। ऐसे में उनका जवाब लिखने में कोई परेशानी नहीं हुई। परीक्षा केंद्रों पर सभी परीक्षार्थी अपनी स्कूल यूनिफार्म में ही परीक्षा देने के लिए पहुंचे थे।

बता दें कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) कक्षा 10वीं और 12वीं के की टर्म परीक्षा करा रहा है। फ‌र्स्ट टर्म की परीक्षाएं के मुख्य विषयों की परीक्षाएं मंगलवार 30 नवंबर से शुरू हो गई है। हालांकि सामान्य विषयों व प्रयोगात्मक परीक्षाएं 22 नवंबर चल रही हैं। कोरोना के चलते बोर्ड की परीक्षाएं नहीं हो पाई थी। सीबीएसई ने पूर्व की परीक्षाओं को आधार मानते हुए 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का परिणाम जारी किया था। कोरोना के बाद सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाओं की पद्धति में बदलाव किया है। जिसके चलते सीबीएसई ने 10वीं में इस बार टर्म परीक्षाओं की व्यवस्था की है। परीक्षाएं 27 दिसंबर तक चलेंगी। परीक्षा केंद्र प्रभारियों ने परीक्षा के लिए पूरा प्लान पहले से ही तैयार कर लिया गया है। बोर्ड की ओर से कोविड गाइड लाइन का पालन किए जाने को लेकर सख्त निर्देश दिए गए हैं। शारीरिक दूरी के साथ छात्र-छात्राएं अनिवार्य रूप से मास्क लगाएंगे। केंद्र के गेट पर थर्मल स्क्रीनिग के साथ ही हाथों को सैनिटाइज कराया जाएगा। केंद्र के भीतर छात्र समूह बनाकर कतई बात नहीं करेंगे।

परीक्षा देने में नहीं हुई कोई परेशानी

परीक्षा देकर केंद्र से बाहर आए छात्र- छात्राओं ने बताया कि परीक्षा का समय 90 मिनट का दिया गया था। परीक्षा शुरू होने से पहले प्रश्न पत्र पढ़ने के लिए 20 मिनट का समय दिया गया। परीक्षा सुबह 11.30 बजे शुरू हुई। छात्रों ने बताया कि प्रश्न पत्र बहुविकल्पीय था। ओएमआर शीट पर सही उत्तर को काला किया गया था। रफ कार्य के लिए परीक्षा केंद्र पर अलग से शीट उपलब्ध कराई गई थी।

- छात्रों की प्रतिक्रिया:

अगर सभी विषयों के प्रश्नपत्र इसी तरह से आए तो बेहतर नंबर आएंगे और खुशी भी होगी। पहली परीक्षा के दौरान किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई, प्रश्न पत्र भी ज्यादा लंबा नहीं था, तय समय के अनुसार पूरी परीक्षा हो गई।

गीतांजलि, छात्रा

पेपर काफी आसान आया था। परीक्षा शुरू होने से पहले प्रश्न पत्र पढ़ने के लिए 20 मिनट का समय दिया गया। इससे प्रश्नों के उत्तर देने में ज्यादा समय नहीं लगा।

वजीहा, छात्रा

सामाजिक विज्ञान की पहली परीक्षा ठीक-ठाक थी, न ज्यादा सरल थी और न ही ज्यादा कठिन। घर जाकर प्रश्नों के उत्तरों का मिलान करेंगे। इसके बाद पता चलेगा कि परीक्षा आसान थी या कठिन। कुल मिलाकर परीक्षा अच्छी हुई है।

अक्षिता वर्मा, छात्रा

प्रश्नपत्र आसान होने के कारण प्रश्नों के उत्तर देने में ज्यादा समय नहीं लगा। अभी तो यह टर्म परीक्षा है, आधे विषय की परीक्षा हुई है, जो कि कोरोना के कारण पहली बार ऐसा हुआ है। जिस हिसाब से परीक्षा की तैयारी की थी उसी हिसाब से प्रश्न आए हुए थे। कोई प्रश्न बाहर से नहीं था।

यश अत्री, छात्र

epaper

संबंधित खबरें