ओएलएक्स पर एड देकर ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार

हिन्दुस्तान टीम , गाज़ियाबाद Last Modified: Thu, Jun 15 2017. 18:45 PM IST
offline

ओएलएक्स पर विज्ञापन दे मोबाइल खरीद के नाम पर ठगी करने वाले एक शातिर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस शातिर ने मोबाइल के आकार का शीशे का टुकड़ा देकर एक कंपनी के डिप्टी मैनेजर से ठगी की थी। मैनेजर ने पुलिस से शिकायत की थी। कविनगर पुलिस ने आरोपी को गोविंदपुरम के पास से गुरुवार को दबोचा। उसके पास से एक बाइक व मोबाइल के आकार का शीशा व उसका कवर बरामद किया गया है। एसपी सिटी आकाश तोमर ने बताया कि आरोपी का नाम सोहेल है और वह मुरादनगर का रहने वाला है। सोहेल ओएलएक्स पर पुराने मोबाइल का विज्ञापन देता था। वह खरीदार को मोबाइल के आकार का कांच का टुकड़ा पैक कर दे देता था। इस तरह उसने दर्जनों बार ठगी की है। ठगी में उसका एक साथी अयान भी शामिल है। रामनगर, गाजियाबाद निवासी मनीष पाठक एक प्राइवेट कंपनी में डिप्टी मैनेजर हैं। उन्होंने 14 जून को ओएलएक्स पर प्रीति शर्मा नाम की महिला की आईडी पर सेकेंडहैंड ओपो एफवन-एस मोबाइल का विज्ञापन देखा था। इसकी कीमत 9 हजार रुपये बताई गई थी। उन्होंने दिए हुए नंबर पर कॉल किया। विज्ञापन देने वाले युवक ने उसे बुधवार दोपहर को मोबाइल देने के लिए हापुड़ चुंगी के पास बुलाया। मनीष ने बताया कि सोहेल नाम के युवक ने उन्हें पहले एक ब्लैक कवर से निकालकर फोन दिखाया। फोन दिखाने के बाद वह देने के लिए पैसे गिनने लगे। इस दौरान ठग ने कवर बदल कर उन्हें दे दिया। इसके बाद ठग वहां से निकल गए। मनीष ने बताया कि जो कवर उन्हें दिया गया था,उसकी चेन ही नहीं खुल रही थी, इसके बाद जब उन्होंने कवर को साइड से फाड़कर देखा तो उसमें कांच का टुकड़ा था। ऐसे पकड़ा गया ठग ठगी होने के बाद मनीष ने इसकी शिकायत पुलिस से की। दरअसल बुधवार रात को उसने मनीष के पिता के मोबाइल पर फोन किया। बुधवार दोपहर को मनीष के पिता का नंबर ठगों ने रीसीव नहीं किया था तो उन लोगों को लगा कि यह नंबर किसी अन्य ग्राहक का है। उनके पिता के फोन पर कॉल आने के बाद मनीष मोबाइल लेने हापुड़ चुंगी पर पहुंचा। जहां मनीष को देखकर आरोपी वहां से भागने लगा, लेकिन इस दौरान पीड़ित ने उसकी बाइक का नंबर देखकर पुलिस को जानकारी दी। इसके बाद कविनगर पुलिस की स्पेशल टीम ने ठग को गोविंदपुरम तिराहे के पास से चेकिंग के दौरान गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह अब तक कई लोगों के साथ इस प्रकार की ठगी कर चुका है। वहीं लोगों को विश्वास दिलवाने के लिए उसने महिला के नाम से आईडी बनाई हुई थी। --- हम लोग आरोपी के अकाउंट की जांच कर रहे हैं और ओएलएक्स से इसकी आईडी की डिटेल मंगा रहे हैं। आरोपी ने दो आईडी बना रखी थी। एक प्रीति शर्मा और दूसरी अपने नाम पर। इस मामले में एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है। -आकाश तोमर, एसपी सिटी ऐप पर पढ़ें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।
हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें