अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला की जान जोखिम में डालने पर डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज

ट्रांस हिंडन। संवाददाताइंदिरापुरम के एक अस्पताल में बीते माह आपरेशन के बाद महिला के सीने पर गर्म पानी की बोतल रखकर घायल करने के मामले में पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने एक चिकित्सक तथा अन्य स्टॉफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। महिला ने 30 अगस्त को पुलिस में शिकायत की थी जबकि घटना 14 अगस्त की है। पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग की जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज की है। इंदिरापुरम की ऐवेन्यू गौर सिटी में पीड़िता अपूर्वा परिवार के साथ रहती है। अपूर्वा 14 अगस्त को डिलीवरी के लिए शक्तिखंड-2 स्थित मात्रिका अस्पताल में भर्ती हुई थी। सामान्य डिलीवरी न होने पर डॉक्टरों ने ऑपरेशन किया। इस दौरान वह कई घंटे तक बेहोशी की हालत में रही, करीब दो घंटे बाद होश आने पर उसे सीने पर जलन और दर्द महसूस हुआ तो वह चिल्लाई, इतने में परिजन और अस्पताल का स्टॉफ उनके पास आए तो देखा की सीने पर एक गर्म पानी की बोतल रखी थी। बोतल इतनी गर्म थी कि उनके सीने के आसपास के हिस्से को करीब एक इंच गहरा तक जला दिया। 17 अगस्त को उनकी अस्पताल से छुट्टी होने के बाद दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज शुरू कराया था। 30 अगस्त को महिला ने अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत की थी। इस संबंध में जब डॉक्टर अंजना से फोन पर संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें फोन पर कुछ नहीं कहना है। उनका पक्ष जानने के लिए अस्पताल आकर बात करनी होगी। --इनके खिलाफ दर्ज हुई रिपोर्टपीड़िता की शिकायत पर ऑपरेशन करने वाली डॉक्टर अंजना सिंह एवं अस्पताल के अन्य स्टॉफ के खिलाफ ज्वलनशील पदार्थ के संबंध में लापरवाही से किसी का जीवन संकट में आने तथा जीवन खतरे में डालने से जुड़ी धाराओं में केस दर्ज किया गया है। इंदिरापुरम पुलिस मामले की जांच कर रही है।--वर्जनऑपरेशन करने वाली महिला डॉक्टर के साथ अस्पताल के अन्य कर्मचारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस आरोपी महिला डॉक्टर के बयान दर्ज कर आगे की कार्रवाई करेगी।-रवि कुमार, एएसपी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The case of the woman at the risk of the case against the doctor