DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बॉडी व्रेन कैमरे से लैस होंगे एसआईबी जांच दल के मुखिया

-विशेष जांच दल (एसआईबी) की कार्रवाई पर कैमरे से रहेगी नजर

-वाणिज्य कर विभाग के कमिश्नर ने भेजा आदेश, चार कैमरे खरीदे जाएंगे

-कारोबारियों के यहां छापेमारी और जांच के दौरान पारदर्शी व्यवस्था रहेगी

वाणिज्य कर विभाग की जांच ईकाई (एसआईबी) नियमित जांव एवं छापेमारी के दौरान मनमर्जी नहीं कर सकेंगे। कारोबारियों से जांच के बदले सांठगांठ भी नहीं कर सकेंगे। सरकार ने कारोबारियों के साथ पारदर्शी व्यवस्था बनाने के लिए जांच इकाई के मुखिया के लिए बॉडी व्रेन कैमरे लगाने की तैयारी में हैं।

अगले माह अक्तूबर से यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। कैमरे के खरीद के लिए एक कंपनी को ऑडर दिया गया है। कंपनी से कैमरा मिलते ही विशेष अनुसंधान शाखा (एसआईबी) के प्रभारी डिप्टी कमिश्नर को एक-एक कैमरा दे दिया जाएगा। कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी या नियमित जांच के दौरान एसआईबी के प्रभारी डिप्टी कमिश्नर कैमरे से लैस रहेंगे।

अपर आयुक्त एसआईबी संपूर्णानंद पांडेय ने बताया कि जांच इकाई अक्सर कारोबारियों के गोदामों और प्रतिष्ठानों पर नियमित जांच में जाती है। कई बार टीम को कर चोरी क माल होने की सूचना पर गोदामों और प्रतिष्ठानों पर छापेमारी भी करनी पड़ती है। ऐसे में कारोबारी जांच इकाई के अधिकारी-कर्मचारी पर सांठगाठ करने या रिश्वत मांगने जैसे भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगा देते हैं। वाणिज्य कर विभाग ने जांच इकाई और सचल दल की पारदर्शी व्यवस्था बनाने के लिए नईव्यवस्था की है। वीिडयोग्राफी आिद की व्यवस्था पहले से ही है।

चार जांच ईकाई है जोन में

वाणिज्य कर विभाग के गाजियाबाद जोन में एसआईबी की चार इकाई हैं। तीन इकाई गाजियाबाद में है और एक बुलंदशहर जनपद में है। चारों इकाई के प्रभारी डिप्टी कमिश्नर होते हैं। चारों इकाई में एक से दो सहायक आयुक्त और अन्य कर्मी होते हैं।

सचल दल की गाड़ियां कैमरे से हैं लैस

अपर आयुक्त ने बताया कि जोन में 11 सचल दल (मोबाइल स्कवॉयड) हैं। सभी यूनिट के प्रभारी सहायक आयुक्त हैं। सभी सचल दल इकाई की एक जीप में तीन-तीन कैमरे लगे हुए हैं। तीनों कैमरे की नजर जीप में बैठे अधिकारी और अन्य कर्मचारियों पर रहती है। ताकि जीप में कोई कर्मचारी लेन-देन या रिश्वत की बात न कर सकें।

लखनऊ तक से कैमरे की मॉनिटरिंग होगी

अपर आयुक्त ने बताया कि एसआईबी टीम के प्रभारी डिप्टी कमिश्नर की शर्ट में बॉडी ब्रेन कैमरा लगा होगा। इस कै मरे की मॉनिटरिंग गाजियाबाद कार्यालय के साथ लखनऊ स्थित मुख्यालय से भी हो सके गा। कैमरे की लॉगिंग का पासवर्ड दोनों जगहों पर वाणिज्य कर मुख्यालय के उच्चाधिकारियों के पास रहेगा। उच्चाधिकारी इस लॉगिंग से छापेमारी की कार्यवाही को देख सकेंगे।

‘सरकार की ओर से एसआईबी के प्रभारी अधिकारियों के लिए बॉडी व्रेन कैमरे पर मुहर लगा दी गई है। गाजियाबाद ओर बुलंदशहर की चारों जांच इकाई के प्रभारी को जल्द ही कैमरे दे दिए जाएंगे। प्रभारी अधिकारी जांच या छापेमारी के दौरानं अनिवार्य रुप से कैमरे से लैस रहेंगे। इस उच्चाधिकारियों की नजर रहेगी।

-संपूर्णानंद पांडेय, अपर आयुक्त (एसआईबी), वाणिज्य कर विभाग

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Head of SIB probation team to be equipped with body-screw camera