DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सफाई में गाजियाबाद की छलांग सभी शहरों के लिए सबक

ट्रांस हिंडन। प्रमुख संवाददातास्वच्छता सर्वेक्षण में गाजियाबाद की छलांग देश भर के दूसरे शहरों के लिए एक सबक है। स्वच्छता मिशन को आगे बढ़ाने में नगर निगम के साथ ही शहर के लोगों ने भी भरपूर सहयोग दिया जिसकी वजह से गाजियाबाद 351वें स्थान से लुढककर 36वें स्थान पर आ गया। इसे देश में नंबर एक बनाने के लिए शहरवासियों को और प्रयास करने होंगे। गुरुवार को कौशांबी स्थित एक होटल में आयोजित राष्ट्रीय शहरी विकास शिखर सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद प्रदेश के शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि देश में सफाई के प्रति जनजागृति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वजह से आई है। लेकिन इसमें सभी की भागीदारी के बिना सफलता नहीं मिल सकती। जिस तरह गाजियाबाद ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में 36वां स्थान हासिल किया है वह नगर निगम के साथ ही इस शहर में रहने वाले लोगों की वजह से संभव हो पाया है। बीते साल गाजियाबाद इस सर्वेक्षण में 351 वें पायदान पर था। इस उपलब्धि के लिए नगर निगम गाजियाबाद को 23 जून को प्रधानमंत्री सम्मानित करेंगे। उन्होंने कहा कि दुनिया के छोटे देशों ने सफाई के मामले में काफी सफलता पाई है। भारत ने कम समय में ही स्वच्छता की ओर तेजी से कदम बढ़ाए हैं। मलेशिया का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि मलेशिया में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है। हमें इससे सीख लेनी चाहिए। महापौर आशा शर्मा ने कहा कि हमने देश में गुलाबी शौचालय की अवधारणा शुरु की। स्वच्छता में गाजियाबाद आने वाले वर्षों में देश के सामने नजीर पेश करेगा। इसके लिए शहरवासी पूरी तरह से तैयार हैं। कार्यक्रम का आयोजन एलीट टेक्नोमीडिया ने किया था। कार्यक्रम में लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर, खोड़ा चेयरमैन रीना भाटी, नगर आयुक्त सीपी सिंह, आवास एवं शहरी मामले मंत्रालय के संयुक्त सचिव वीके जिंदल, झांसी नगर निगम आयुक्त प्रताप सिंह भदौरीया तथा आगरा स्मार्ट सिटी लिमिटेड के स्वतंत्र निदेशक डॉ. रोहित बंसल समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ghaziabad leap in cleanliness lessons for the cities