DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जल संरक्षण पर जोर, पेयजल टैंकर से सड़कों पर बहाया पानी

ट्रांस हिंडन। प्रमुख संवाददाताशनिवार को नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना के जनपद आगमन पर जल संरक्षण एवं पौधारोपण पर हुए कार्यक्रम से पहले सड़कों पर पेयजल टैंकरों से पानी बहाया गया। इस दौरान सैंकड़ों लीटर पानी सड़कों पर बहाकर छिड़काव किया गया। पेयजल टैंकरों में पीने का पानी था या सिंचाई का पानी इसके लिए निगम अधिकारी कुछ भी कहने को तैयार नहीं हैं। शनिवार को संसदीय कार्य एवं नगर विकास मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना का हिंडन तट पर जल संरक्षण एवं हिंडन तट सफाई के साथ ही पौधारोपण कार्यक्रम रखा गया। सुरेश खन्ना के आने से पहले हिंडन नहर रोड पर पेयजल टैंकरों से पानी का छिड़काव किया गया। इस दौरान तीन ट्रैक्टर में दो-दो टैंकर लगाकर पानी सड़क पर बहाया गया। हिंडन तट पर हुए कार्यक्रम में सुरेश खन्ना ने कहा कि जल संजयन आज की सबसे बड़ी जरुरत है। जल संरक्षण अभियान के लिए जल आंदोलन को जन-जन तक पहुंचाना होगा। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि जल संरक्षण के लिए हमें नदी, तालाब की साफ सफाई करनी होगी। इससे वर्षा जल भूमिगत होकर हमें भविष्य के लिए पानी उपलब्ध करा सके। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हिंडन तट पर जल संचयन केन्द्रों को और अधिक आधुनिक बनाना होगा। इसके लिए पौधारोपण जरूरी है। शासन द्वारा नगर निगम को डेढ़ लाख पौधे लगाने का लक्ष्य प्रदान किया गया है। शनिवार को 50 पौधे लगाकर अभियान की शुरुआत की गई। कार्यक्रम में सुरेश खन्ना ने नाला सफाई के लिए छह पोकलेन मशीन और एक कैटल कैचिंग वाहन दस्ते को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर माहपौर आशा शर्मा, साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा, मुरादनगर विधायक अजितपाल त्यागी, लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर, जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी, नगर आयुक्त दिनेश चंद्र , मुख्य विकास अधिकारी रमेश रंजन, संयुक्त नगर आयुक्त, अपर नगर आयुक्त, अपर जिलाधिकारी नगर, निगम पार्षद, आदि उपस्थित रहे। --पीने का पानीं नहीं हो सकता। यह सिंचाई का पानी है। लेकिन पेयजल टैंकर से क्यों छिड़काव किया जा रहा था। इसकी जानकारी जुटा लेते हैं। -दिनेश चंद्र, नगर आयुक्त--झील की जमीन पर मकान बनाकर रहने वालों ने मांगी मददअर्थला झील की जमीन पर मकान बनाकर रहने वालों ने शनिवार को नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना से मिलकर मदद मांगी। दलित सेना पदाधिकारियों के साथ स्थानीय लोगों ने सुरेश खन्ना को बताया कि यहां रहने वालों ने मेहनत की कमाई से मकान बनाए हैं। अधिकांश आबादी श्रमिकों की है। बीते कुछ दिनों से नगर निगम मकान खाली करने की मुनादी कर रहा है। इससे लोग दहशत में हैं। इस मौके पर दलित सेना के पश्चिमी उत्तर प्रदेश अध्यक्ष सच्चितानंद, चंद्रपाल सिंह, शशी, सर्वेश, श्रीराम कुशवाहा, मनोज सिंह, सीताराम, मनोज गुप्ता, बैदनाथ साह और मुन्ना गुप्ता मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Emphasis on water conservation water shedding water on drinking water tankers