Child wounded, bus collides with unipole - रोडवेज बस यूनिपोल से टकराई, बच्ची घायल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोडवेज बस यूनिपोल से टकराई, बच्ची घायल

रोडवेज बस यूनिपोल से टकराई, बच्ची घायल

कौशांबी डिपो के पास मंगलवार सुबह एक रोडवेज बस यूनिपोल से टकरा गई। इससे बस में सवार एक बच्ची मामूली रूप से चोटिल हो गई। वहीं बस में सवार 40 लोग बाल-बाल बच गए। उत्तराखंड रोडवेज की बस मंगलवार सुबह नौ बजे कौशांबी डिपो की ओर जा रही थी। इसी दौरान बस अनियंत्रित होकर सड़क किनारे लगे एक यूनिपोल से टकरा गई। हादसे के बाद बस में सवार मुसाफिरों में अफरा-तफरी मच गई। वो भागकर बाहर निकलने लगे। इस दौरान एक बच्ची को मामूली चोट आई। गनीमत रही कि बस में सवार 40 लोग बाल-बाच बच गए। यूनिपोल से टक्कर के बाद बस का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। टक्कर होते ही चालक कूदकर भाग गया। बस में सवार लोगों ने बताया कि चालक को झपकी आ गई थी। इस वजह से बस अनियंत्रित होकर यूनिपोल से टकरा गई। कौशांबी डिपो के एआरएम एनके वर्मा ने बताया कि हादसे में कोई घायल नहीं हुआ है। उत्तराखंड रोडवेज के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर बस को हटवा दिया। यात्रियों को दूसरी बसों से उनके गंतव्य भेज दिया गया। दीपावली से पहले अवैध होर्डिंग और यूनिपोल हटाए जाएंगे नगर निगम ने अवैध होर्डिग्स और यूनिपोल का सर्वे शुरू कर दिया है। दीपावली से पहले अवैध विज्ञापन पटों पर कार्रवाई शुरू होगी। विज्ञापन एजेंसी ने बगैर निगम के स्वीकृति के मोहन नगर चौराहा, लिंक रोड, जीटी रोड, सीआईएसएफ रोड आदि पर विज्ञापन लगा दिए हैं। जोनल प्रभारी सुनील राय ने बताया कि लिंक रोड पर मोहन नगर से यूपी गेट तक करीब 58 और डाबर से आनंद विहार तक करीब 10 होर्डिंग और यूनिपोल लगे हैं। इसके अलावा सड़कों पर अवैध विज्ञापन लगे हैं। नगर निगम ने विज्ञापन पटों का सर्वे कर लिया है। इनकी सूची तैयार की जा रही है। इस सूची को निगम की सूची से मिलाया जाएगा। जहां पर बगैर अनुमति के होर्डिंग लगे हैं, उन्हें हटा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पहले भी अवैध होर्डिंग को हटाने की कार्रवाई की गई थी। इसके बाद फिर से इन्हें लगा दिया गया। इसकी शिकायत नगर निगम को मिली थी। इसके बाद अवैध होर्डिंग हटाने की कार्रवाई की जाएगी। अवैध होर्डिंग से करोड़ों का नुकसान नगर निगम को अवैध होर्डिंग और यूनिपोल से करोड़ों रुपये का फटका लगता है। विज्ञापन एजेंसी को नोटिस जारी करने के बाद भी अवैध विज्ञापन लगा देते हैं। इससे नगर निगम की विज्ञापन से होने वाली करोड़ों रुपये का राजस्व की हानि होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Child wounded, bus collides with unipole