DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कारोबारी से रिश्वत लेते गिरफ्तार सीजीएसटी इंस्पेक्टर को जेल भेजा

बागपत के ध्यानार्थ--कारोबारी से रिश्वत लेते गिरफ्तार सीजीएसटी इंस्पेक्टर को जेल भेजागाजियाबाद। कार्यालय संवाददातास्क्रैप कारोबारी से रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार केंद्रीय जीएसटी विभाग के इंस्पेक्टर को अदालत ने जेल भेज दिया। गुरुवार शाम करीब साढ़े चार बजे सीबीआई की विशेष अदालत में आरोपी इंस्पेक्टर को पेश किया गया। अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। आरोपी पर कारोबारी का माल भरा ट्रक पास कराने के एवज में 30 हजार का रिश्वत लेने का आरोप है। सीबीआई टीम के हाथों तीस हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार इंस्पेक्टर का नाम वीरेंद्र कुमार है। वह केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर सीजीएसटी, विभाग में नोएडा के डिवीजन पंचम में करीब एक वर्ष से तैनात थे। सीबीआई के वरिष्ठ लोक अभियोजक वीके सिंह ने बताया कि सीबीआई की टीम ने 15 मई को नोएडा में तैनात सीजीएसटी इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार को 30 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। गुरुवार शाम करीब साढ़े चार बजे आरोपी इंस्पेक्टर को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश अमित वीर सिंह की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में डासना जेल भेज दिया। अदालत से जेल जाने के आदेश के बाद कोर्ट के बाहर मौजूद उसके पिता और परिवार के अन्य लोग भावुक हो गए। पांच वर्ष की नौकरी में ट्रैप में फंसाआरोपी सीजीएसटी इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार का परिवार नोएडा में सेक्टर 30 के बी/118 में रहता है। उसके पिता हरपाल सिंह मूलत: खेकड़ा जिला बागपत के रहने वाले हैं। मात्र पांच वर्ष की नौकरी में वीरेंद्र कुमार रिश्वत लेते सीबीआई के ट्रैप में फंस गया। नोएडा से पहले वीरेंद्र कुमार, गाजियाबाद में केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क (अब केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर) विभाग में इसी पद पर तैनात था। ऐसे फंसा सीबीआई के जाल में-जीएसटी इंस्पेक्टर को रंगे हाथ गिफ्तार करने वाली टीम की अगुवाई इंस्पेक्टर वी पी सिंह कर रहे थे। टीम में सब इंस्पेक्टर एके मीणा, एसके सिंह और सिपाही बिजेंद्र सिंह शामिल रहे। टीम को 14 मई को नोएडा के स्क्रैप कारोबारी नरेंद्र शर्मा ने शिकायत की थी। शर्मा का नोएडा, गाजियाबाद के साथ दिल्ली में स्कै प का मोटा काम है। कारोबारी ने सीबीआई को बताया कि ट्रक पास कराने के एवज में उक्त इंस्पेक्टर पहले 50 हजार और बाद में 30 हजार रुपये की मांग कर रहा है। शिकायत के बाद सीबीआई टीम ने कारोबारी से रिश्वत की रकम तैयार रखने को कहा। सीबीआई टीम ने जाल बिछाने के बाद कारोबारी से 15 मई को रिश्वत देने को कहा। इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार ने रिश्वत की रकम लेकर दफ्तर के पास सेक्टर 1-2 की सड़क पर शाम करीब छह बजे एक जगह बुलाया। कार से आए जीएसटी इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार जब कारोबारी से रिश्वत की रकम लेने लगा। वहीं कु छ दूरी पर खड़ी सीबीआई टीम ने अधिकारी को दबोच लिया। अधिकारी के पास से रकम बरामद हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CGST inspector arrested for accepting bribe from businessman