DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCR गाज़ियाबाद दिल्ली-एनसीआर में बाइक चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा

दिल्ली-एनसीआर में बाइक चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा

हिन्दुस्तान टीम,गाज़ियाबादNewswrap
Sun, 24 Oct 2021 06:30 PM
दिल्ली-एनसीआर में बाइक चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा

पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार किया, अब तक 300 से अधि मोटरसाइकिल चोरी कर चुके हैं

गाजियाबाद। वरिष्ठ संवाददाता।

क्राइम ब्रांच की एंटी ऑटो थेफ्ट सेल ने दिल्ली-एनसीआर में 300 से अधिक बाइक चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने गिरोह के तीन वाहन चोरों, तीन कबाड़ियों और एक वेल्डिंग मिस्त्री को भीम नगर स्थित कबाड़ के गोदाम से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से चोरी की सात बाइक बाइक बरामद की। इसके अलावा आरोपियों के पास से तीन कटी हुई बाइक भी मिली।

क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्रा ने बताया कि वाहन चोरों के खिलाफ एंटी ऑटो थेफ्ट सेल की टीम कई दिनों से काम कर रही थी। शनिवार रात पुलिस को भीमनगर में एक कबाड़ के गोदाम में वाहनों की कटाई होने की जानकारी मिली थी। सूचना पर पुलिस टीम ने देर रात मौके पर दबिश देकर सात बाइक और तीन कटी हुई बाइक बरामद कर ली। पुलिस ने मौके से घूकना के रहने वाले गोदाम मालिक जोगिंदर को गिरफ्तार कर लिया। वहीं उससे हुई पूछताछ और निशानदेही के आधार पर नंदनगरी दिल्ली के रहने वाले वाहन चोर केशव, हर्ष विहार दिल्ली के रहने वाले विकास और जोगिंदर के बेटे सौरभ के अलावा घूकना के ही रहने वाले अंकित उर्फ कार्टून को गिरफ्तार कर लिया। इसी क्रम में पुलिस ने जोगिंदर के पड़ोस में ही कबाड़ का काम करने वाले हसनैन और भूप सिंह को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इन सभी आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है। आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि अब तक इन लोगों ने 300 से अधिक बाइक चोरी की है।

अस्पतालों की पार्किंग होता था निशाना

पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह आमतौर पर दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों खासतौर पर जीटीबी अस्पताल के बाहर पार्किंग से बाइक चोरी करते थे। बताया कि अस्पताल में अक्सर परेशान लोग आते हैं। जो बाइक खड़ी करने के बाद पीछे मुड़ कर नहीं देखते और सीधा अंदर चले जाते हैं। इतने में मौका देखकर वह बाइक चोरी कर लेते थे। आरोपियों ने बताया कि दिल्ली के अलावा इन लोगों ने गाजियाबाद, नोएडा और फरीदाबाद से भी वाहन चोरी की है।

पूरी चेन पकड़ी

एंटी ऑटो थेफ्ट सेल के दरोगा प्रजंत त्यागी ने बताया कि पुलिस ने इस गिरोह की पूरी चेन को गिरफ्तार किया है। इसमें केशव और विकास तो पहले से बाइक चोरी करते थे। बाद में इनके संपर्क में अंकित और सौरभ आए। चूंकि सौरभ के पिता जोगिंदर भीम नगर में कबाड़ का काम करते थे, इसलिए उसने अपनी पहचान बताए बिना केशव और विकास को अपने पिता से मिलवाया। फिर इन चारों द्वारा चोरी की गई बाइक जोगिंदर खरीदने लगा। जोगिंदर ने भी अपने पड़ोस के वेल्डिंग मिस्त्री भूप सिंह को बाइक काटने के काम में लगाया, वहीं कटी हुई बाइक को वह पड़ोसी कबाड़ी हसनैन को बेच देता था।

सबका हिस्सा तय था

आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि गिरोह में सभी का हिस्सा तय था। कोई भी बाइक चोरी करने के बाद चोर दो हजार रुपये में जोगिंदर को देते थे। जोगिंदर बाइक काटने के लिए भूप सिंह को एक हजार रुपया देता था। वहीं पांच हजार रुपये में कटी हुई बाइक हसनैन को सौंप देता था। हालांकि हसनैन एक से दो हजार का मुनाफा लेकर बाइक के पुर्जे दिल्ली के रहने वाले वसीम को बेचता था। पुलिस वसीम की तलाश कर रही है।

पहले सोतीगंज मेरठ में बेचते थे बाइक

चोरों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि पहले वह बाइक चोरी करने के बाद सोतीगंज मेरठ स्थित कबाड़ी को बेचते थे। लेकिन वहां काम बंद होने के बाद करीब डेढ़ साल से वह जोगिंदर को बेचने लगे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें