DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › गाज़ियाबाद › 35 हजार को टीका लगा, कोरोना नियम भी टूटे
गाज़ियाबाद

35 हजार को टीका लगा, कोरोना नियम भी टूटे

हिन्दुस्तान टीम,गाज़ियाबादPublished By: Newswrap
Tue, 12 Oct 2021 03:00 AM
35 हजार को टीका लगा, कोरोना नियम भी टूटे

गाजियाबाद | संवाददाता

जनपद में सोमवार को 298 केंद्रों पर 35,812 को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। केंद्रों पर अधिक भीड़ होने से कोविड नियमों का भी पालन नहीं हो सका। लंबी कतार देखकर अधिकांश लोग वापस भी लौट गए।

विभाग की ओर से सोमवार को विभिन्न हाइराइज सोसाइट, मॉल, बाजार और स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण किया गया । केंद्र की ओर से इसको महाअभियान का रूप तो नहीं दिया गया। लेकिन वैक्सीन को लेकर मारामारी खत्म करने के लिए 298 सरकारी केंद्र बनाए गए।सभी केंद्रों पर लोग सुबह ही कतार लग गई।

लक्ष्य के मुकाबले40 फीसदी वैक्सीन लगना बाकी: अभी तक 30 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। इनमें 21.12 लाख लोगों को पहली और 8.88 लाख लोगों को दोनों खुराक लग चुकी हैं। लक्ष्य के सापेक्ष अभी लगभग 40 फीसदी वैक्सीन लगनी बाकी है, लेकिन स्वास्थ्य अधिकारी मान रहे हैं कि अब केवल दूसरी खुराक के लाभार्थी शेष रह रहे हैं। दरअसल टीकाकरण की शुरूआत से जिले में 18 साल से अधिक उम्र के 28 लाख लोगों को चिन्हित किया गया था। प्रत्येक व्यक्ति को दो-दो खुराक के अनुसार कुल 56 हजार टीकाकरण होना था, लेकिन केंद्रों पर अब पहली खुराक के लिए लोग काफी कम पहुंच रहे हैं। केंद्रों पर केवल अब दूसरी खुराक की मांग बढ़ रही है।

लोगों को घंटों तक करना पड़ा इंतजार

ट्रांस हिंडन। टीएचए में सोमवार को टीकाकरण के तहत सोसाइटी और स्वास्थ्य केंद्रों पर वैक्सीनेशन शिविर लगाया गया। सोसाइटी और स्वास्थ्य केंद्रों पर भीड़ ज्यादा होने की वजह से लोगों को वैक्सीन के लिए घंटो इंतजार करना पड़ा। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन नही हो सका। टीएचए के इंदिरापुरम, कैलाश मानसरोवर भवन, वसुंधरा, वैशाली, शालीमार गार्डन सहित अन्य इलाकों में वैक्सीनेशन शिविर लगाय गया। जहां सुबह दस बजे से वैक्सीनेशन शिविर की शुरूआती की गई। इंदिरापुरम स्थित कैलाश मानसरोवर भवन में वैक्सीनेशन लगवाने वालों को टोकन के लिए लंबी लाइन लगानी पड़ी।

घर-घर जाकर वैक्सीन लगाई जाएगी

स्वास्थ्य विभाग अब लोगों को घर-घर वैक्सीन लगाने की तैयारी कर रहा है। सीएमओ ने बताया कि 18 अक्टूबर से शुरू हो रहे संचारी रोग नियंत्रण अभियान में सर्वे किया जाएगा। इसमें ऐसे लोग चिन्हित किए जाएंगे, जिन्होंने एक भी खुराक नहीं लगवाई है। यदि लाभार्थी वह केंद्र तक जा भी नहीं सकते, उन्हें घर पर ही वैक्सीन लगाई जाएगी। इस सर्वे के जरिए यह रिपोर्ट भी तैयार की जाएगी कि गांव, कॉलोनी, मोहल्ले में कितने प्रतिशत टीकाकरण हो सका है। पीएचसी और सीएचसी प्रभारी के साथ ही क्षेत्र की आशा, आंगनबाड़ी और एएनएम को लिखित में सर्वे की रिपोर्ट देनी होगी।

विभाग ने सप्ताह में दो से तीन दिन बड़े स्तर पर टीकाकरण कराने की योजना तैयार की है। इसमें कोई लक्ष्य नहीं रखा जाएगा और न ही अभियान का रूप दिया जाएगा। केवल अलग-अलग केंद्र तैयार किए जाएंगे। इसमें शहरी से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की आबादी को सुविधा भी दी जाएगी, जिससे जिले की अधिकांश आबादी कोरोना से सुरक्षित रह सके। -डॉ. भवतोष शंखधर, सीएमओ

संबंधित खबरें