DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाईएमसीए में प्रौद्योगिकी और तकनीक पर कार्यशाला

जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (वाईएमसीए) में कॉरपोरेट और शैक्षिक क्षेत्र में बदलाव पर आयोजित की जा रही कार्यशाला बुधवार को दूसरे दिन भी जारी रही। इस दौरान तकनीक के विकास के साथ विश्व में आ रहे बदलाव की जानकारी दी गई। मोबाइल ऐप डेवलपमेंट, सोशल मीडिया के लिए डेटा साइंटिस्ट्स और प्लेटफॉर्म इंजीनियरिंग आदि के लिए प्रशिक्षित लोगों की मांग बढ़ने की भी जानकारी दी। कार्यशाला में जल संसाधन के क्षेत्र में काम करने वाली एक कंपनी के सीईओ बतौर मुख्य वक्ता शामिल हुए। इसमें उन्होंने प्रौद्योगिकी और तकनीक के क्षेत्र में हो रहे बदलाव की जानकारी दी। बताया कि तकनीक के विकास से वैश्विक प्रणाली के कामकाज में बदलाव आ रहा है। दूसरे वक्ताओं ने कहा कि डिजिटल प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भी तेजी से बदलाव हो रहा है, जो हमारे समाज और व्यवसाय को प्रभावित कर रहा है। इसके अलावा और नई तकनीक के विकास के साथ आईटी, बैंकिंग उद्योग और इंजीनियरिंग क्षेत्र प्रभावित होंगे। औद्योगिक रिलेशन सेल, एलुमिनाई और कॉरपोरेट सेल के प्रभारी डॉ. अशबीर सिंह की देखरेख में आयोजित कार्यक्रम में डेटा एनालिटिक्स, क्लाउड एंड साइबर-सिक्योरिटी सर्विसेज, आईओटी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और कई अन्य डिजिटल टेक्नोलॉजी के भविष्य पर चर्चा की गई। इस मौके पर डॉ. संजीव गोयल तथा डॉ. रश्मि पोपली, विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Workshop on Technology and Technology at YMCA