DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यमुना में जलस्तर बढ़ा, सैकड़ों एकड़ फसल पानी में डूबी

यमुना में जलस्तर बढ़ा, सैकड़ों एकड़ फसल पानी में डूबी

1 / 2सैकड़ों एकड़ फसल पानी में डूबी

यमुना में जलस्तर बढ़ा, सैकड़ों एकड़ फसल पानी में डूबी

2 / 2सैकड़ों एकड़ फसल पानी में डूबी

PreviousNext

ताजावाला बांध से छोड़े गए पानी का असर फरीदाबाद से गुजर रही यमुना में दिखाई देने लगा है। रविवार को पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने यमुना किनारे बसे गांवों का जायजा लिया। इस दौरान सिंचाई विभाग ने पानी से घिरे गांव दूल्हेपुर के लोगों को ऐहतियात के तौर पर सुरक्षित स्थानों पर चले जाने को कहा है।

उधर, यमुना में जलस्तर बढ़ने से मंझावली में उत्तर प्रदेश व हरियाणा को जोड़ने के लिए बनाए जा रहे फ्लाईओवर का काम रूक गया है। यमुना के फैले जलस्तर के चलते निर्माण एजेंसी की क्रेन यमुना के उस पार में फंस गई हैं।

ताजावाला बांध से छोड़े गए छह लाख क्यूसेक पानी के बाद रविवार को प्रशासनिक अधिकारियों में बैचेनी बनी रही। एसीपी तिगांव अमन यादव, छांयसा एसएचओ कुलदीप सिंह के अलावा सिंचाई विभाग के एसडीओ अरविंद शर्मा, जेई शशि भूषण औ मुकेश कुमार ने यमुना के निचले स्थानों का जायजा लिया। इस दौरान छांयसा के जंगलों से दो परिवारों को नाव की मदद से उनके सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया है। पुलिस ने जंगलों में बसे सभी लोगों को वहां से पशुओं व परिवार के साथ गांवों में जाने को कहा है।

100 पुलिसकर्मी किए गए हैं तैनात

एसीपी अमन यादव ने बताया कि यमुना में सोमवार को अधिक पानी आने की संभावना है। इसे लेकर पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है। थाने में 100 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। जो राइडर से यमुना के तीरे बसे गांवों का जायजा लेते रहेंगे। किसी भी तरह की चूक नहीं होने दी जाएगी। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर टयूबों की व्यवस्था भी की गई है। रविवार देर रात तक अभी यमुना से किसी प्रकार के नुकसान को कोई खतरा नहीं है।

बिजली निगम के कर्मचारियों की भी लगाई गई हैं ड्यूटियां:

ग्रेटर फरीदाबाद के कार्यकारी अभियंता विकास मोहन दहिया ने बताया कि वह सिंचाई विभाग के अधिकारियों के संपर्क में हैं। अगर कहीं से पानी घुसने की शिकायत उन्हें मिलती है तो तुरंत उस इलाके की बिजली काट दी जाएगी। इसे लेकर बिजली घरों में कर्मचारियों की तैनाती की गई है, जो इस व्यवस्था पर नजर रखेंगे। पर बैचेनी बनी हुई है। इसका असली असर सोमवार को यमुना तीरे बसे गांवों में देखने को मिलेगा।

यमुना उफान पर, विभाग ने बताया मात्र 59 हजार क्यूसेक पानी:

सिंचाई विभाग के मुताबिक ताजावाला बांध से शाम सात बजे एक लाख 10 हजार 298 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इस समय तक ओखला से यमुना में 59 हजार क्यूसेक पानी चल रहा है, लेकिन सिंचाई विभाग से जुड़े सेवानिवृत्त अधिकारियों का कहना है कि विभाग का यह आंकड़ा समझ से परे हैं। यह जलस्तर इससे कहीं अधिक है, लेकिन इसे बताया कम गया है।

--------------

72 घंटे बाद लगातार बढ़ा जल स्तर

हरियाणा सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव अनुराग रस्तोगी ने कहा कि हथिनीकुण्ड बैराज के आसपास और यमुना नदी के साथ-साथ उसकी सहायक नदियों में पिछले 72 घण्टे में लगातार वर्षा के कारण यमुना का जल स्तर बढ़ा है। हथिनीकुण्ड बैराज से कल शाम लगभग 6 लाख क्यूसिक पानी बहकर आगे गया है। सिंचाई विभाग के अधिकारी लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और हर घंटे की सूचना दिल्ली और राज्य के अन्य जिलों के अधिकारियों के साथ सांझा कर रहे हैं।

पिछले रिकार्ड पर नजर डाले तों वर्ष 2010 में लगभग 8 लाख क्यूसिक और वर्ष 2013 में लगभग 7.50 लाख क्यूसिक पानी हथिनीकुण्ड बैराज से बहा था। उन्होंने कहा कि यमुना के पानी को नियंत्रित करने के लिए तीन बैराज बनाए गए हैं, जिसमें से एक बैराज हथिनीकुण्ड है, जो हरियाणा के पास है, जबकि एक बैराज वजीराबाद में है, जो दिल्ली के पास है। इसी प्रकार, एक बैराज ओखला में है जो उत्तर प्रदेश के पास है।

उन्होंने कहा कि बैराज में पानी को स्टोर नहीं किया जा सकता है। जब यमुना में पानी 2.50 लाख क्यूसिक से ऊपर जाता है तो उसे तकनीकी रूप से हाई फ्लड कहते हैं, लेकिन इससे कहीं किसी आबादी को नुकसान नहीं होता है और अब तक हरियाणा में किसी भी तरह के जान-माल की सूचना नहीं प्राप्त हुई है और पानी अपने तरीके से लगातार बह रहा है।

मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई:

यमुना के जल स्तर से सम्बन्धित मुख्यमंत्री ने रविवार को वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई, जिसमें मुख्यमंत्री ने आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि सिंचाई विभाग के अधिकारी युमना नदी के जल स्तर को लेकर दिल्ली के अधिकारियों के साथ-साथ सेना के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित किए हुए हैं। ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटा जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Water level increase in Yamuna, hundreds of acres of crop in water