DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  फरीदाबाद  ›  लूट डकैती में लड़की सहित तीन गिरफ्तार
फरीदाबाद

लूट डकैती में लड़की सहित तीन गिरफ्तार

हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादPublished By: Newswrap
Wed, 21 Feb 2018 08:12 PM
लूट डकैती में लड़की सहित तीन गिरफ्तार

सीआईए सेक्टर-48 ने नंगला गुजरान की गत्ता फैक्ट्री और जवाहर कॉलोनी में बैंक के ग्राहक सेवा केंद्र में डकैती व लूटपाट की वारदात को अंजाम देने के मामले में एक इनामी बदमाश व उसकी नाबालिग प्रेमिका को मथुरा के एक होटल से गिरफ्तार किया है, जबकि एक बदमाश को गौतमबुद्ध नगर के एक गांव से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से दो पिस्तौल, जिंदा कारतूस व लूटी गई नकदी में से पांच हजार रुपये की राशि बरामद कर ली है। गिरफ्तार तीनों अभियुक्तों को पुलिस ने दोपहर बाद अदालत में पेश किया। जहां अदालत ने दोनों बदमाशों को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है, जबकि प्रेमिका को नारी निकेतन करनाल भेज दिया गया है।

गिरफ्तार बदमाशों में मुख्य बदमाश 19 वर्षीय आकाश उर्फ काका फरीदाबाद के गांव पाखल का रहने वाला है, जबकि दूसरा बदमाश जसबिंदर उर्फ जस्सी गांव गाजीपुर का रहने वाला है। आकाश उर्फ काका की नाबालिग प्रेमिका भी इनमें शामिल हैं। बदमाशों ने 24 जनवरी को बैंक ऑफ बड़ौदा के सेवा केंद्र से हथियारों के बल पर सेक्टर-16 से मनीष व उसके भाई से तीन लाख रुपये की लूट की थी। इसके बाद आरोपियों ने 13 फरवरी को नंगला गुजरान में बनी गत्ते की फैक्ट्री में मालिक, पलवल के रहने वाले पंकज गुप्ता व उसके भाई नीरज गुप्ता पर अंधाधुंध फायरिंग कर करीब तीन लाख रुपये लूट लिए थे। इसके बाद आरोपी वहां से भाग निकले।

सारन थाना इलाके में हुई लूट की दोनों बड़ी वारदातों की जांच का जिम्मा डीसीपी क्राइम राजेश चेची ेक नेतृत्व में सीएआईए सेक्टर-48 इंचार्ज विमल कुमार को सौंप दिया। इसके बाद से टीमें सीसीटीवी फुटेज के आधार पर लगातार बदमाशों की तलाश में थी। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि फरार बदमाश मथुुरा में छिपे हुए हैं।

बदमाशों की तलाश में टीमों ने खंगाले मथुरा के होटल

डीसीपी सुखबीर ने बताया कि बदमाशों की तलाश में सीआईए टीमें मथुरा पहुंची। जहां करीब 20 होटलों में ठहरे लोगों के आधार कार्ड देखे। इस दौरान पुलिस ने काका उर्फ आकाश के आधार कार्ड को पहचान लिया। इसके आधार पर पुलिस ने मथुरा होटल से डकैती की वारदात के मुख्य आरोपी आकाश उर्फ काका और उसकी नाबालिग प्रेमिका को धर दबोचा। जबकि तीसरे आरोपी जसविंद्र उर्फ जस्सी को गौतमबुद्ध नगर के कनारसी गांव से दबोचा गया।

----

प्रेमिका पर रुपये खर्च करने व डॉन बनने को लेकर देता था वारदात को अंजाम

डीसीपी ने बताया कि आकाश उर्फ काका को बदमाशी में डॉन बनने की इच्छा थी। इसके अलावा वह अपनी प्रेमिका पर खर्च करने के लिए लूट की वारदातों को अंजाम देता था। आरोपी जसविंदर और जस्सी पैसों के लालच में अपने दोस्त के साथ मिलकर इन वारदातों को अंजाम देता था। आकाश उर्फ काका दसवीं पास तथा जसविंद्र उर्फ जस्सी नौंवी कक्षा। दोनों एक दूसरे के दोस्त हैं। जिन्हें महंगे होटल और घूमने का शौक है। वारदात को अंजाम देने के बाद ही ये यूपी, राजस्थान के विभिन्न शहरों में जाकर रहे।

लूट से पहले करते थे रैकी

बदमाशों ने बताया कि वह लूट से पहले लूट की वारदात को अंजाम देते थे, इसके बाद बाइक या अन्य वाहन लूटकर लूट व डकैती की वारदात को अंजाम देकर वहां से भाग जाते थे। रिमांड के दौरान पुलिस लूट के दौरान इस्तेमाल किए गए वाहनों की बरामदगी करेगी।

शादीशुदा थी नाबालिग महिला

क्राइम ब्रांच इंचार्ज विमल कुमार ने बताया कि गिरफ्तार नाबालिग लड़की पहले से शादीशुदा है, लेकिन कुछ दिनों पहले वह अपनी ससुराल से चली आई और आकाश उर्फ काका के संपर्क में रहने लगी।

--------------

चाचा को मारने के लिए खरीदी 30 हजार में पिस्टल

पुलिस ने बताया कि मुख्य अभियुक्त आकाश उर्फ काका अपने चाचा की हत्या करना चाहता था, इसके लिए उसने यूपी के शेरगढ़ से 30 हजार में पिस्टल खरीदी

-----------

हत्या के मामले में भी आकाश था नामजद

20 दिसंबर 2017 में डबुआ कॉलोनी में पानी कारोबारी हरेंद्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में आकाश फरार चल रहा था। इस मामले में कुछ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था, जबकि आकाश फरार चल रहा था, जिस पर पांच हजार रुपये का ईनाम घोषित था। आरोपी आकाश उर्फ काका पहले भी जेल जा चुका है तथा फिलहाल फरीदाबाद में मोस्ट वांटेड अपराधी था। आरोपी नाबालिक को पिछले 4-5 साल से जानता था। जो वारदात में उसका साथ देती थी।

संबंधित खबरें