DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › फरीदाबाद › 31 मोस्टवांटेड की धरपकड़ पुलिस के निशाने पर
फरीदाबाद

31 मोस्टवांटेड की धरपकड़ पुलिस के निशाने पर

हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादPublished By: Newswrap
Wed, 02 Jun 2021 03:00 AM
31 मोस्टवांटेड की धरपकड़ पुलिस के निशाने पर

फरीदाबाद। कोरोना काल से निपटने के बाद अब पुलिस का अगला निशाना विभिन्न थानों की सूची में शामिल 31 मोस्टवांटेड को धरपकड़ करने की होगी। इस बारे में जल्द ही पुलिस आयुक्त ओपी सिंह क्राइम ब्रांच की टीमों को इनकी धरपकड़ का लक्ष्य सौंपेंगे। दरअसल, पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने विभिन्न थानों से मांगे गए नए मोस्टवांटेड 20 बदमाशों पर इनाम घोषित करने के लिए जो फाइल डीजीपी कार्यालय भेजी थी। उसे डीजीपी की ओर से मंजूरी दे दी गई है। जबकि 11 मोस्टवांटेड पहली सूची से बाकी बचे हैं। इसके साथ ही फरीदाबाद की सूची में मोस्टवांटेड की संख्या 31 हो गई है। जबकि पिछले 6 महीने में क्राइम ब्रांच 27 मोस्टवांटेड बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

ये 20 नए नाम किए गए हैं मोस्टवांटेड सूची में शामिल

डीजीपी की ओर से इनाम रखकर जिन 20 को मोस्टवांटेड घोषित किया है। इनमें यादव कालोनी झज्जर निवासी रवि उर्फ भोला धौज और डबुआ थाने में लूट, धोखाधड़ी व हत्या का प्रयास मुकदमों में वांछित है। गांव छांयसा निवासी विनोद, अजय, महेश और सुनील मारपीट व जानलेवा हमला के मुकदमे में वांछित हैं। गांव दयालपुर निवासी साहिल पर जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज है। हाथरस यूपी निवासी सतेंद्र और अवलेश लूट के मुकदमे में वांछित हैं। नत्थु कालोनी बल्लभगढ़ निवासी देवेंद्र उर्फ लाला के ऊपर जानलेवा हमला, धोखाधड़ी, रंगदारी के मुकदमे दर्ज हैं। नूंह निवासी नियामत और तारीफ, मोतिहर बिहार निवासी रवीश की अवैध रूप से गांजा बेचने के मामले में तलाश है। गांव तिगांव निवासी तेजेंद्र उर्फ बिट्टू रंगदारी के मुकदमे में फरार है। मनोज भाटी हत्याकांड के आरोपित कंबक्षपुर नोएडा निवासी कोशिंदर, टप्पल यूपी निवासी हिमांशु और गांव महमूदपुर निवासी रवि कसाना के नाम भी इस सूची में शामिल किए गए हैं। इनके अलावा मयूरविहार दिल्ली निवासी अरविंद सोनी चोरी और बल्ला अलीगढ़ निवासी शिवम उर्फ अक्षय लूट, हत्या का प्रयास, धोखाधड़ी के मामलों में वांछित है।

क्राइम ब्रांच ने पिछले छह महीने में 27 मोस्टवांटेड बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल में भेजा है। दो लाख के इनामी मनोज मांगरिया की गिरफ्तारी के बाद अब मोस्टवांटेड की पुरानी सूची में 11 नाम बचे हैं। लेकिन इसके बाद मोस्टवांटेड की सूची एक बार फिर लंबी होती चली गई। पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने गत दिनों विभिन्न थानों से मोस्टवांटेड की सूची में शामिल किए जाने वाले नाम मांगे थे। इसके तहत 20 बदमाशों के नाम सामने आए थे। अब डीजीपी की ओर से इन 20 नए नामों को मोस्टवांटेड सूची में शामिल किए जाने के बाद फरीदाबाद पुलिस की नजर इन पर टिकी हुई है।

पुरानी सूची में बचे हुए बदमाश :

मोस्टवांटेड की पुरानी सूची में 11 नाम हैं, इनमें जिम्मी वर्ष 2007 और बीरसिंह वर्ष 2002 से वांटेड है। अन्य में लारेंस बिश्नोई गिरोह का बदमाश संदीप उर्फ काला जठेड़ी पर पांच लाख का इनाम है। काला जठेड़ी को पिछले साल उसके साथियों ने पुलिस वैन पर गोलियां चलाकर छुड़ा लिया था। विकास उर्फ माले और सज्जन उर्फ भोलू कौशल गैंग के शूटर हैं। हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विकास चौधरी की हत्या मामले में दोनों वांटेड हैं। इनके ऊपर 50-50 हजार रुपये का इनाम है। नत्थु कालोनी बल्लभगढ़ निवासी भाइयों हिमांशु उर्फ जंगली और मनोज उर्फ बिल्ला जानलेवा हमले, मारपीट, रंगदारी के मामलों में वांटेड हैं। इनके ऊपर 50-50 हजार रुपये का इनाम है। इनके अलावा श्यामलाल, भूरा, बलबीर, टीटू अलग-अलग मुकदमों वांछित हैं। इनके ऊपर पांच-पांच हजार रुपये का इनाम है।

संबंधित खबरें