DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फसल अवशेष न जलाने की शपथ दिलाई

फसल अवशेष न जलाने की शपथ दिलाई

अनाज मंडी में एक खंडस्तरीय मेले का आयोजन किया गया, जिसमें जिले के लगभग 415 किसानों ने भाग लिया। मेले की अध्यक्षता कृषि एवं किसान कल्याण विभाग पलवल के उपनिदेशक डॉ. विरेन्द्र देव आर्य द्वारा की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पलवल के एसडीएम जितेन्द्र कुमार ने शिरकत की।

डॉ. विरेन्द्र देव आर्य ने उपस्थित किसानों को बताया कि खेतों में फसल अवशेष नहीं जलाने चाहिए क्योंकि इससे खेतों का उपजाऊपन कम हो जाता है। इससे मिट्टी में उपस्थित मित्र कीट मर जाते है, जिस कारण फसल के उत्पादन में कमी आती है। उन्होंने बताया कि सरकार ने एक नई स्कीम चलाई है, जिसके अंतर्गत वर्ष 2018-19 में हरियाणा राज्य में कस्टम हायरिंग मशीनरी बैंक की स्थापना की गई है। इस स्कीम का उद्देश्य फसल अवशेषों के इन-सीटू (यथास्थान/खेत) प्रबंधन संबंधी मशीनें किराए पर उपलब्ध करवाना है। जिले में 25 कस्टम हायरिंग मशीनरी बैंकों की स्थापना का कार्य प्रगति पर है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि द्वारा विभिन्न कृषि यंत्रों का निरिक्षण किया गया तथा किसानों को फसल अवशेष न जलाने के लिए शपथ दिलवाई गई। इसके साथ-साथ कार्यक्रम में किसानों को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार, परंपरागत कृषि विकास योजना तथा एकीकृत बागवानी विकास मिशन के बारे में बताया गया। इस अवसर पर उपमंडल कृषि अधिकारी डॉ. कुलदीप सिंह तेवतीया, सहायक कृषि अभियंता दीपचंद, जिला परामर्शदाता डॉ. सुरेश बराड़ ने किसानों को संबोधित कर विभिन्न प्रकार की कृषि संबंधी जानकारी दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sworn oath not to burn crop residues