Special Vehicles in Disaster Management 'Aiolus 4.0' - आपदा प्रबंधन में खास वाहन 'एयोलस 4.0' कारगर होगा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपदा प्रबंधन में खास वाहन 'एयोलस 4.0' कारगर होगा

आपदा प्रबंधन में खास वाहन 'एयोलस 4.0' कारगर होगा

वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के छात्रों का बनाया वाहन देश में आपदा प्रबंधन के दौरान राहत व बचाव कार्य में अहम भूमिका निभा सकता है। ये जानकारी वाहन की प्रस्तुति के दौरान छात्रों ने दी। दरअसल, संस्थान के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के छात्रों ने ऑल टरेन व्हीकल (हर तरह के मैदान पर चलने में सक्षम वाहन) बनाया है। टीम इस वाहन के साथ एसएई इंडिया बाजा सीरिज के 11वें संस्करण में शामिल होकर शहर का प्रतिनिधित्व करेगी।

वाईएमसीए में हुए एक कार्यक्रम के दौरान कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने वाहन का आधिकारिक तौर पर अनावरण किया। प्रो. संदीप ग्रोवर तथा मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के चेयरमैन प्रो. तिलक राज ने भी विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी। इस दौरान मैकनैक्सट रेसिंग टीम के कैप्टन व ड्राइवर उदित सेतिया ने बताया कि वाहन को 'एयोलस 4.0' नाम दिया गया है। इसे 25 सदस्यीय मैकनैक्सट रेसिंग टीम ने तैयार किया है। आपदा प्रबंधन हो या फिर उबड़-खाबड़ मैदान को खेती लायक बनाने की कोशिश इस वाहन से सभी संभव है।

राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होगा खास वाहन

वाहन एसएई इंडिया की ओर से आईआईटी रोपड़ में 9 से 11 मार्च तक होने वाली एसएई इंडिया बाजा सीरिज में शामिल होगा। ये कार्यक्रम सोसाइटी आफ ऑटोमेटिव इंजीनियर्स, यूएसए की ओर से विश्व स्तर पर होता है। इवेंट में छात्रों के बनाए ऑल टरेन व्हीकल की डिजाइनिंग, निर्माण तथा रेसिंग की गुणवत्ता को परखा जाता है। इसमें देशभर से सभी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों तथा इंजीनियरिंग संस्थानों की टीमें हिस्सा लेती हैं।

साढ़े चार लाख है वाहन की कीमत

परियोजना में विद्यार्थियों के मार्गदर्शक रहे मैकेनिकल इंजीनियरिंग के सहायक प्रोफेसर डॉ० मुकेश गुप्ता ने बताया कि वाहन का वजन करीब 155 किलोग्राम है। इसे साढ़े चार की लागत से करीब चार महीने में तैयार किया गया है। इसमें 10 हॉर्स पावर इंजन तथा कस्टमाइज गियर बॉक्स लगा है। वाहन के चारों पहिये इसे गति देते हैं, लेकिन परिस्थिति के अनुसार टू-व्हील ड्राइव सिस्टम का विकल्प भी है। वाहन 45 डिग्री की खड़ी चढ़ाई व सीढ़ियां उतरने में भी सक्षम है।

वागन से जुड़ी खास जानकारी

60 किमी प्रति घंटा है अधिकतम गति सीमा

4.5 लाख रुपये आई है वाहन की लागत

45 डिग्री खड़ी चढ़ाई और उतरने में है सक्षम

10 हॉर्स पावर का इंजन है शामिल

155 किलोग्राम है वाहन का वजन

04 महीने में किया गया है तैयार

25 सदस्यीय दल ने बनाया है वाहन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Special Vehicles in Disaster Management 'Aiolus 4.0'