DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्मार्ट सिटी में बिजली दो फीसदी महंगी

राज्य सरकार ने नागरिकों को महंगाई का जोर का झटका धीरे से दिया है। गुरुवार को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में नगर निगम की दर खपत की गई बिजली की पांच पैसा प्रति यूनिट से बढ़ाकर बिजली बिल की राशि का दो फीसदी तक करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इस फैसले का सीधा असर बिजली के उपभोक्ताओं की जेब पर पड़ेगा। जबकि नगर निगम की आदमनी बढ़ जाएगी। गौरतलब है कि नगर निगम ने बिजली टैक्स को पांच पैसे से बढ़ाकर 25 पैसे तक करने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था, लेकिन सरकार नगर निगम की आय बढ़ाने के उद्देश्य से इसे अब बिल का दो फीसदी कर दिया है। इससे स्मार्ट सिटी फरीदाबाद के करीब 4.75 लाख उपभोक्ताओं की बिजली का बिल करीब दो फीसदी बढ़कर आएगा। मसलन, किसी उपभोक्ता का बिजली बिल एक हजार रुपये आता है तो अब 1020 रुपये आएगा। अब सीधे तौर पर स्मार्ट सिटी के लोगों की जेब से करीब 74 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष बिजली विभाग के माध्यम से नगर निगम को पहुंचेंगे। नगर निगम की करीब 50 करोड़ रुपये की आय बढ़ेगी फरीदाबाद में करीब 4.75 लाख उपभोक्ता प्रतिदिन करीब 144 लाख यूनिट प्रतिदिन खर्च करते हैं। फरीदाबाद में औसतन बिजली की कीमत करीब सात रुपये प्रति यूनिट है, इस खपत का उपभोक्ताओं से करीब 3679 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष वसूला जाता है। अब इसका करीब दो फीसदी करीब 74 करोड़ रुपये नगर निगम को अतिरिक्त आय होगी। नगर निगम को अब तक इससे करीब 24 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष आय होती थी। राज्य सरकार के गुरुवार को लिए गए इस निर्णय से नगर निगम को करीब 50 करोड़ रुपये का अतिरिक्त लाभ होगा। ------------------- ऐसे बढ़ेगा बिजली बिल अगर 300 यूनिट खपत करने वाले उपभोक्ताओं का बिजली करीब 1800 रुपये आता है। तो इसमें अब से पहले नगर निगम का शुल्क करीब 15 रुपये वसूला जाता था, जो अब 36 रुपये वसूला जाएगा। अर्थात नगर निगम को कुछ उपभोक्ता दोगुना तो कुछ तीन गुणा तक शुल्क बढ़ाकर देंगे। नगर निगम की आमदनी 11 करोड़, खर्चा 28 करोड़ नगर निगम मौजूदा आमदनी करीब 11 करोड़ रुपये हैं और खर्चा करीब 28 करोड़ रुपये प्रतिमाह है। नगर निगम के अधिकारी आमदनी बढ़ाने के उपाय जनता पर टैक्सों का बोझ डालकर ही करते हैं। हालांकि अधिकांश पार्षद मानते हैं कि आमदनी के लिए ठोस नियमित स्त्रोत से ही निगम की हालत सुधर सकती है। नगर निगम फिल्हाल पानी और सीवर शुल्क भी बढ़ा दिया है। प्रॉपर्टी टैक्स वसूलने के लिए कार्रवाई तेजी से की जा रही है। ये भी हुए निर्णय 15 जून तक छूट के साथ जमा कर सकेंगे गृहकर शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया है कि 15 फीसदी छूट के साथ बकाया गृहकर की अदायगी अब 15 जून, 2017 तक की जा सकेगी। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं। यह विशेष योजना फरवरी, 2017 से चलाई जा रही है। ड्रोन करेगा अतिक्रमण का सर्वे हरियाणा सरकार ने सरकारी संपत्तियों पर अवैध अतिक्रमण और अवैध निर्माण पर रोक लगाने के उद्देश्य से ड्रोन का इस्तेमाल करके हवाई सर्वेक्षण करवाने का निर्णय लिया है। ऐसा सर्वेक्षण फरीदाबाद, करनाल और गुरुग्राम में होगा। पायलट आधार पर चलाई जाने वाली इस परियोजना के सफल होने पर इसे शेष जिलों में भी लागू किया जाएगा। सतीश कुमार, लेखाधिकारी: नगर निगम का प्रस्ताव 5 से 25 पैसे करने का था। राज्य सरकार ने इसे अब कितना किया है। इसके दिशा-निर्देश जल्द ही विभाग को प्राप्त होंगे। इससे आय में कुछ इजाफा होगा। ---------------अशोक कुमार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Smart City has two percent expensive electricity