report of illegal farmhouses of Aravali - अरावली के अवैध फार्महाउसों पर मंडलायुक्त ने मांगी रिपोर्ट DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरावली के अवैध फार्महाउसों पर मंडलायुक्त ने मांगी रिपोर्ट

अरावली के अवैध फार्महाउसों पर मंडलायुक्त ने मांगी रिपोर्ट

अरावली शृंखलाओं के बीच अवैध रूप से बनाए गए करीब 140 फार्म हाउसों पर मंडलायुक्त ने नगर निगम प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। नगर निगम दो दिन में मंडलायुक्त को रिपोर्ट देगा। अधिकारी इन फार्म हाउसों पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने में जुटे हैं। अरावली में बने 140 फार्महाउस अवैध किस प्रकार है? इनका मालिकाना हक किसके पास है? और अगर ये अवैध बने हैं तो नगर निगम ने इन पर क्या कार्रवाई की है? इन सब बिंदुओं पर एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करके मंडलायुक्त को सौंपी जाएगी। तत्कालीन निगमायुक्त मोहम्मद शाइन द्वारा कराए गए एक सर्वे में अरावली में 140 फार्महाउस अवैध बने हुए हैं। उन्होंने बीते वर्ष फरवरी में इन पर तोड़फोड़ की कार्रवाई के लिए नगर निगम की टीमें भी गठित की थीं, लेकिन कार्रवाई नहीं की। बाद में उन्होंने जिला राजस्व अधिकारी से फार्म हाउसों के मालिकाना हक की जानकारी प्राप्त की और फिर इन फार्म हाउसों के खिलाफ सूरजकुंड थाने में एफआईआर कराने के आदेश जारी किए, लेकिन पुलिस भी इनकी पहचान और मालिकाना हक के फेर में फंसी रही। ----------- 2002 में आया सर्वोच्च न्यायालय का आदेश : सर्वोच्च न्यायालय ने छह मई 2002 में अरावली पहाड़ी को वन आरक्षित क्षेत्र घोषित किया। इससे खनन जैसी हर प्रकार की खुदाई पर रोक लगाई गई। अरावली में निर्माण कार्य करने के लिए संबंधित व्यक्ति को वन विभाग से एनओसी लेनी अनिवार्य कर दी। बावजूद इसके निर्माण कार्य नहीं रुके। सरकार, शासन में रसूख रखने वाले के न्यायालय के आदेशों को दरकिनार करते हुए निर्माण जारी रखा हुआ है। ------------------------धीरेंद्र खड़गढ़ा, अतिरिक्त निगमायुक्त : मंडलायुक्त ने अरावली में बने अवैध रूप से बने 140 फार्महाउसों पर रिपोर्ट मांगी है। अगले दो दिन में रिपोर्ट मंडलायुक्त को सौंप दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: report of illegal farmhouses of Aravali