Prisoner in prison hanged - जेल में विचाराधीन कैदी ने फांसी लगा जान दी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेल में विचाराधीन कैदी ने फांसी लगा जान दी

नीमका जेल में बंदी एक विचाराधीन कैदी ने मंगलवार तड़के बाथरूम में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक पलवल जिले के गांव कौंडल का रहने वाला था, जिस पर एक बच्ची से दुष्कर्म का आरोप था। शव बीके अस्पताल में न्यायायिक दंडाधिकारी की मौजूदगी में पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

थाना सदर पुलिस के मुताबिक जिला पलवल के कोंडल गांव का निवासी सुनील करीब तीन महीने पहले पॉस्को एक्ट मामले में नामजद हुआ था। पलवल पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया। जहां से इसे न्यायिक हिरासत नीमका में भेज दिया गया।

बताया जाता है कि जेल में बंदी होने के बाद से वह मानसिक रूप से परेशान रहता था। अन्य दिनों की तरह सोमवार शाम को बंदियों को अलग-अलग बैरक में बंद कर दिया। मंगलवार तड़के करीब साढे़ 4 बजे सुनील बाथरूम में गया। लेकिन इसके बाद वह वापस नहीं आया। जब वह काफी देर तक बाहर नहीं आया, तो अन्य बंदियों ने जेल वार्डन को इसकी सूचना दी। इस सूचना के बाद जेल प्रशासन में हड़कंम मच गया। आनन-फानन में जेलकर्मी बाथरूम पहुंचे, जहां सुनील को फांसी पर लटके देख सभी दंग रह गए। बंदी ने पेंट और गमछा से फांसी का फंदा बनाया और वेंटिनलेशन के लिए लगाई गई विंडो से लटक गया। जेल प्रशासन की ओर से मिली सूचना के बाद स्थानीय पुलिस और परिजनों भी जेल पहुंच गए, जहां उन्हें इन हालातों के बारे में अवगत कराया। इसके बाद पुलिस ने शव अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बीके अस्पताल भेज दिया। थाना सदर प्रभारी अशोक कुमार ने बताया कि शव को बीके अस्पताल में जेएमआईसी की मौजूदगी में पोस्टमॉर्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Prisoner in prison hanged