DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनगणना में कई खामियां आ रही है सामने

आयुष्मान भारत योजना के लिए वर्ष 2011 में हुई जनगणना में कई खामियां सामने आ रही हैं। कांग्रेस के पूर्व मंत्री का नाम सूची में आने के बाद लाभार्थियों के भी कार्ड में नाम गलत मिलने लगे है। परिवार के सदस्यों के नाम और जन्म तिथि में अधिकतर खामियां पाई जा रही हैं। इसे ठीक कराने के लिए रोजाना 50 से अधिक कार्ड धारक बीके अस्पताल में बने आयुष्मान सहायता केंद्र पहुंच रहे है। केंद्र सरकार की ओर से वर्ष 2011 में की गई जनगणना के अनुसार लाभार्थियों की सूची तैयार की गई है। इनमें कई परिवार ऐसे हैं जिनका नाम, पिता का नाम, माता का नाम गलत पाया गया है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी लोग हैं जिनका आधार कार्ड में जन्म की तारीख कुछ और है, और आयुषमान भारत के पोटर्ल में कुछ और। इसे ठीक कराने के लिए विभाग की ओर से बनाए गए सहायता केंद्र पहुंच रहे हैं। अभियान से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि अगर इसे अभी ठीक नहीं कराया गया तो उपचार के बाद अस्पताल को क्लेम पास कराने में दिक्कत हो सकती है। ऐसे में अस्पताल प्रबंधन उपचार नहीं करेंगे। मरीज और अस्पताल का डाटा एक सामान्य होना चाहिए। बताया जा रहा है कि ऑन लाइन डाटा ठीक कराने के लिए परिवार के सभी सदस्यों को आयुषमान सहायता केंद्र आना होगा। इसके बाद ही इसे ठीक कराया जा सकता है। आयुषमान भारत के प्रभारी डॉ.रमेश चंदर : डाटा सरकार की ओर से पोटर्ल पर अपलोड किया गया है। इस संबंध में विभाग कुछ भी नहीं कर सकता है। अगर किसी प्रकार का दिक्कत है, तो वह बीके, बल्लभगढ़ में जाकर ठीक करा सकते है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: People are upset with name and date of birth