DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › फरीदाबाद › अरावली में अवैध निर्माण करने वालों को नोटिस
फरीदाबाद

अरावली में अवैध निर्माण करने वालों को नोटिस

हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादPublished By: Newswrap
Fri, 30 Jul 2021 11:50 PM
अरावली में अवैध निर्माण करने वालों को नोटिस

फरीदाबाद। अरावली वन क्षेत्र में प्रशासन द्वारा चिह्नित किए अवैध निर्माणों में से सौ से अधिक लोगों को जिला वन विभाग की ओर से शुक्रवार को नोटिस जारी किए गए। इन नोटिसों में चार दिन का समय दिया गया है। तय तिथि के बाद प्रशासन इन अवैध निर्माणों पर कार्रवाई करेगा। ये नोटिस पंजाब भूमि रोकथाम अधिनियम(पीएलपीए)-1900 और वन संरक्षण अधिनियम-1980 के तहत अरावली की करीब 500 हेक्टेयर भूमि को खाली करवाने के लिए दिए गए हैं।

सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर अरावली में बने अवैध फार्महाउस, बैंक्वेटहॉल समेत अवैध निर्माणों को हटाने के लिए प्रशासन सक्रिय हो गया है। जिले में करीब 5300 हेक्टेयर जमीन संरक्षित है, जिसमें से करीब 500 हेक्टेयर भूमि पर अतिक्रमणों को अभी तक चिह्नित किया गया है। अतिक्रमण करने वालों को नोटिस मिलने के चार दिन में भूमि खाली करनी होगी। अन्यथा अतिक्रमण हटाने का खर्च भी वसूला जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक ड्रोन सर्वे से ली जा रही तस्वीरों से और भी अतिक्रमण सामने आए हैं, इसलिए इनकी तादाद बढ़ सकती है। ये सभी अवैध निर्माण लोगों ने नियम कानूनों को ताक पर रख कर किए हैं। अधिकांश के पास विभागों के पर्याप्त अनापत्ति प्रमाण नहीं हैं। अभी तक अरावली में करीब 140 अवैध निर्माण चिह्नित किए गए हैं। ये अनंगपुर, मेवला महाराजपुर, कोट, मांगर, पाली, अनखीर और बड़खल की राजस्व संपदा में हैं। बीते कुछ वर्षों से अरावली में पेड़ों की कटाई और अवैध कब्जे-निर्माण का खेल धड़ल्ले से किया जा रहा है। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि जिला वन विभाग ने शुक्रवार को सौ से अधिक नोटिस जारी किए हैं। इन नोटिसों में अतिक्रमण करने वालों को चार दिन में अतिक्रमण हटाने की चेतावनी दी गई है। चार दिन बाद वन विभाग इन पर कार्रवाई करेगा।

संबंधित खबरें