DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाम रोकने के लिए सुबह-शाम नीलम और बड़खल पुल पर भारी वाहनों की नो-एंट्री

 No-entry of heavy vehicles

बाटा पुल की एक लेन बंद होने के बाद हाईवे और नीलम-बाटा इलाके में मंगलवार को भी ट्रैफिक रेंगता रहा। जिसके मद्देनजर ट्रैफिस पुलिस ने जाम से निपटने के लिए सुबह और शाम के वक्त नीलम और बड़खल पुल पर भारी वाहनों के चलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। 

मरम्मत के कारण बाटा पुल की एक लेन बंद होने से शहर में ट्रैफिक व्यवस्था जाम की गिरफ्त में है। जाम मुक्ति के लिए ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार को बाटा पुल की हार्डवेयर से हाईवे की ओर जाने वाली लेन पर दोनों ओर से ट्रैफिक चला दिया था। पुलिस ने यहां कोन लगाकर सड़क को दो भागों में विभाजित कर दिया था। 

पुलिस की इस कार्रवाई का थोड़ा असर तो हुआ, लेकिन फिर भी ट्रैफिक रेंगता रहा। मंगलवार को भी बाटा पुल से हार्डवेयर चौक के बीच ट्रैफिक रेंगता रहा। हार्डवेयर चौक से बाटा और टाउन नंबर-1 की ओर जा रहा ट्रैफिक फंस गया। पुलिस को ट्रैफिक चलाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। इसके साथ ही अजरोंदा चौक पर भी दोनों ओर ट्रैफिक रेंगा। वहीं नीलम पुल पर सोमवार की तरह ट्रैैफिक की रफ्तार थमी रही। 

पुलिस ने मंगलवार को बाटा पुल से बल्लभगढ़ की ओर जाने वाले ट्रैफिक को अजरोंदा पुल के नीचे यू-टर्न देकर बल्लभगढ़ की ओर मोड़ा। जिससे वाहन चालक परेशान नजर आए। हालांकि इससे बाटा पुल पर हाईवे पर बल्लभगढ़ की ओर जाने वाला ट्रैफिक जाम में नहीं फंसा।  

दिल्ली जाने वाले बाईपास सड़क का करें इस्तेमाल: डीसीपी ट्रैफिक विरेंद्र विज ने दिल्ली जाने वाले वाहन चालकों को बाईपास सड़क का इस्तेमाल करने की सलाह दी है। ताकि हाईवे पर ट्रैफिक कम हो सके। यदि किसी को गुरुग्राम जाना है तो बाईपास सड़क से नीलम या बड़खल पुल का इस्तेमाल कर जाया जा सकता है। 

भारी वाहनों की नो-एंट्री 
ट्रैफिक पुलिस ने मंगलवार को जाम की स्थिति को देखते हुए नीलम और बड़खल पुल पर भारी वाहनों के लिए नो-एंट्री घोषित कर दी। दोनों पुलों पर सुबह 6 बजे से 11 बजे तक और शाम को 4 बजे से 10 बजे तक भारी वाहनों के चलने पर पाबंदी रहेगी। 

क्या कहा लोगों ने
अमित शर्मा: जाम से काफी परेशानी हो रही है। सुबह-शाम नीलम पुल पर सबसे ज्यादा जाम रहता है। ऊपर से लोग हॉर्न बजाकर सिरदर्द कर देते हैं। 
सिमरन कौर: मुजेसर रेलवे फाटक पर पुल बन गया होता तो आज इतना जाम नहीं झेलना पड़ता। सरकार को मुजेसर रेलवे फाटक पर पुल बनाने की प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए।  
कपिल: एक तो अजरोंदा पर पहले ही बहुत ट्रैफिक हो गया है। वाहन चालक लेन में नहीं चलते हैं। जिससे यहां और जाम बढ़ जाता है। 
फिजा सैफी : जिधर जाओ उधर ही जाम के हालात हैं। ट्रैफिक जाम से तनाव बढ़ रहा है। घर से निकलने से पहले पता करना पड़ता है कि जाम तो नहीं लगा हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:No-entry of heavy vehicles