DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मां ने डांटा तो ट्रेन से बनने चल पड़ा मुंबई में हीरो

आरपीएफ ने फरीदाबाद स्टेशन पर मुंबई जाने वाली ट्रेन के इंतजार में खड़े स्कूल की यूनिफार्म में एक विद्यार्थी को पकड़कर उसके पिता को सौंपा है। एक यात्री की सूझबूझ से वह बालक आरपीएफ तक पहुंचा। दिल्ली की जहांगीरपुरी का रहने वाला बालक अन्य दिनों की तरह मंगलवार को स्कूल के लिए चला। जहां वह स्कूल की हाजिरी लगाने के बाद अध्यापकों की नजर से बचकर स्कूल से निकल गया। इसके बाद उसने ट्रेन से हीरो बनने के लिए मुंबई जाने की योजना बना ली। इसे लेकर उसने घर से पांच हजार रुपये भी चोरी कर लिए।स्कूल से निकलने के बाद वह मेट्रो स्टेशन से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचा और वहां से मुंबई का चालू टिकट खरीदकर पश्चिम एक्सप्रेस से फरीदाबाद पहुंच गया। यहां पर वह मुंबई जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहा था। स्कूल यूनिफार्म में होने की वजह से पलवल में रहने वाले बाबू लाल नजर इस पर पड़ी और उसने बालक से पूछताछ शुरू दी। उसने बाबू लाल को बताया कि वह मुंबई हीरो बनने जा रहा है। बालक ने बताया कि उसकी मां उसे मारती पीटती है। इसके चलते वह भागकर आया है। बाबू लाल ने उसे समझाया, जिसके बाद बालक ने अपने पिता को फोन मिलाया और पूरी घटना की जानकारी दी। बालक के पिता ने बाबू लाल से उसे आरपीएफ को सौंपने आग्रह किया। बालक के पिता के कहने पर बाबू लाल ने उसे आरपीएफ थाने में प्रभारी राजकपूर लांबा को सौंप दिया। पिता के आने के बाद आरपीएफ ने कार्रवाई के बाद बालक को सौंप दिया। आरपीएफ थाना प्रभारी राजकपूर लांबा ने बताया कि बालक अपनी मां की पिटाई से परेशान हो गया था। इसके चलते उसने भागने की योजना बनाई थी। पूरी जांच के बाद उसे सौंप दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mother rebuked by train heroes in Mumbai