DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  फरीदाबाद  ›  संसद भवन के एडिशनल डायरेक्टर के घर लाखों की चोरी

फरीदाबादसंसद भवन के एडिशनल डायरेक्टर के घर लाखों की चोरी

हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:00 AM
संसद भवन के एडिशनल डायरेक्टर के घर लाखों की चोरी

फरीदाबाद। फरीदाबाद की आईपी कॉलोनी में रहने वाले संसद भवन दिल्ली के एडिशनल डायरेक्टर के घर के ताले तोड़कर चोर लाखों रुपये कीमत के जेवरात चोरी कर ले गए। घटना उस समय हुई जब परिवार के लोग दिल्ली गए हुए थे। चोरी की घटना 22 मई को हुई। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

आईपी कॉलोनी सेक्टर-33 निवासी मंजुल कुमार पांडे ने बताया कि वह संसद भवन में एडिशनल डायरेक्टर हैं। उनके ससुर का देहान्त कोरोना से हो गया और उनकी पत्नी कोरोना के कारण दिल्ली के चानन देवी,जनकपुरी अस्पताल मे भर्ती थी। जिसके कारण वह अपने घर नहीं थे। वह 22 मई को अपने घर आया तो उन्होंने पाया कि ड्रॉइग रूम का दरवाजा खुला पाया। घर में जाने के पता चला कि बेडरुम की अलमारी का लाकर टूटा हुआ और सारे जेवर चोरी हुए पाए गए। उन्होंने तभी पुलिस को 100 नंबर पर फोन किया, पुलिस अधिकारी आए और निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि मुख्य दरवाजे की चटकनी अंदर से बंद थी और बाहर लगा ताला तोड़ा गया था, टूटा ताला लटका हुआ था। इसके अलावा अल्मारियां आदि के भी ताले टूटे हुए थे। जहां उन्होंने पाया कि करीब 9 लाख 75 हजार कीमत के सोने व चांदी के जेवरात चोरी कर ले गए। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी, लेकिन सोमवार तक चोरों का कुछ पता नहीं चला था।

पोमेरेनियन कुत्ते के रहने तक चोरी नहीं हुई

संसद भवन में एडिशनल डायरेक्टर मंजुल कुमार पांडे ने बताया कि उन्होंने पोमेरेनियन नस्ल का कुत्ता पाला हुआ था। जिसकी उम्र 16 साल हो चुकी थी। तीन अप्रैल की रात उनके पड़ोसियों ने बताया कि उनके कुत्ते शाम को तो भौक रहा था, लेकिन शाम से उसने भौकना बंद कर दिया था। वह दिल्ली से जब 4 अप्रैल को अपने घर फरीदाबाद आया तो उसने पाया कि उनका कुत्ता मर चुका था। उसके बाद वह वापिस अपनी ससुराल चला गए। जहां उनकी पत्नी व बेटी की तबियत भी ठीक नहीं थी। उनकी बेटी अपने नाना-नानी के घर पर ही रहती थी। उनकी नानी साढे तीन साल पहले मर गई और नाना 26 अप्रैल कोरोना से चल बसे थे। इस कारण वह तीन मई को वापिस अपनी ससुराल में गए थे। उसके बाद वह 4 मई को अपनी बेटी का सामान लेकर फरीदाबाद आ गए थे और वापिस दिल्ली चले गए। फरीदाबाद की आईपी कॉलोनी में कोई नहीं था, इस कारण वह फरीदाबाद अपने घर काफी दिनों से नहीं आए थे। बहरहाल, जब तक उनका कुत्ता रहा तो चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम नहीं दिया था।

संबंधित खबरें