DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निवेशक 22 दिन से धरने पर बैठे

पीयूष ग्रुप की विभिन्न योजनाओं में करोड़ों रुपये निवेश करने वाले सैकड़ों निवेशक पैसा नहीं मिलने से खासे परेशान हो चुके हैं। पीयूष ग्रुप के मालिकों की कोठी के बाहर से भगाए जाने के बाद पीड़ित पीयूष ग्लोबल परिसर में धरना देकर बैठे हुए हैं। बावजूद उनकी पीड़ा सुनने को कोई तैयार नहीं है। सनद रहे कि इससे पहले निवेशकों ने कोठी के बाहर 10 दिनों तक धरना दिया था। करोड़ों की लेनदारी वाले सैकड़ों निवेशक पिछले 22 दिनों से पीयूष ग्रुप की कोठी व अब पीयूष ग्लोबल पर धरना दिए हुए हैं। कुछ दिनों तक निवेशकों ने ग्रुप के मालिक अनिल गोयल की कोठी के बाहर धरना दिया हुआ था। आरोप है ग्रुप के मालिकों ने पुलिस की ऊंची पहुंच का फायदा उठाते हुए उन्हें कोठी के बाहर प्रदर्शन करने से खदेड़वा दिया। पीयूष ग्लोबल पर प्रतिदिन इन निवेशकों का साथ देने के लिए उनके परिवारों की महिलाएं भी मौके पर पहुंच रही हैं। पीड़ित लोगों ने ग्रुप के सभी परिजनों के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए अपने दिए पैसे की मांग को दोहराया। इस मौके पर निवेशक मधुर, योगेश जिंदल, धर्मेंद्र जिंदल, विशाल, प्रकाश गोयल, प्रमोद सहित अनेक प्रदर्शनकारियों ने बताया कि उन्होंने अपना पैसा पीयूष ग्रुप की विभिन्न योजनाओं में निवेश किया था। उन्हें उम्मीद थी कि उनका पैसा सुरक्षित जगह लग रहा है। अब जब उनके बच्चे बड़े-बड़े हो गए ओर उन पर जिम्मेदारी ज्यादा आ गई तो अब ग्रुप के मालिकों ने उन्हें उनका ही पैसा वापस देने से मना कर दिया है। अब वह उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। कई निवेशकों का आरोप है कि उनके ग्रुप के द्वारा पैसे के बदले जमीन दी गई, लेकिन उनकी रजिस्ट्री नहीं की जा रही है। इन निवेशकों ने प्रशासन को चेताया है कि यदि उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो वह सभी कोई बड़ा कदम उठा सकते हैं, जिसका जिम्मेदार पीयूष ग्रुप के साथ प्रशासन भी होगा। उधर, पीयूष ग्रुप के निदेशक पुनीत गोयल को उनका पक्ष जानने के लिए फोन किया गया, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Investor sitting on dharna for 22 days