DA Image
20 अप्रैल, 2021|3:37|IST

अगली स्टोरी

जिले में 23 गांव में ग्रे वॉटर मैनेजमेंट से पानी की बर्बादी रुकेगी

default image

फरीदाबाद। जिले के 23 गांवों में जल्द ही ग्रे वाटर मैनेजमैंट से पानी की बर्बादी रोककर पेयजल किल्लत दूर की जाएगी। इस संबंध में प्रशासन स्तर से योजना का खाका तैयार कर संबंधित विभाग को भेजा जा चुका है। ये जानकारी जिला उपायुक्त ने गुरुवार को मुख्यमंत्री संग हुई विडियो कांफ्रेसिंग के दौरान दी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरुवार को चंडीगढ़ से आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश भर के उपायुक्तों से शिव धाम योजना, ग्रे वाटर मैनेजमैंट व फसलों की खरीद के तहत किये जा रहे कार्यों बारे जानकारी ली। साथ ही इन मामलों में तेजी लाने के भी निर्देश दिए।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री हर गुरुवार को सुबह 10 बजे से 12 बजे तक संवाद कार्यक्रम के तहत विभिन्न विषयों को लेकर उपायुक्तों से समीक्षा बैठक लेकर जानकारी लेते हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शिवधाम योजना के बारे में बातचीत की। इस योजना के तहत चार कार्यों शमशान घाट व कब्रिस्तान के जीर्णोद्धार, वहां पर पानी की व्यवस्था, कच्चे रास्तों को पक्का करना व चारदिवारी पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि इन कार्यों के तहत अधिकतर कार्य पूरा हो चुके हैं। जिस जिले में काम बाकी रहता है उसे जल्द पूरा किया जा सके। बैठक में जिले से एसडीएम फरीदाबाद परमजीत चहल, एचएसवीपी के कार्यकारी अधिकारी जितेंद्र कुमार, नगराधीश मोहित कुमार आदि मौजूद रहे।

ग्रे वॉटर मैनेजमेंट से पानी की कमी दूर होगी

मुख्यमंत्री ने सभी जिलों से ग्रे वाटर मैनेजमैंट के तहत किए जा रहे कार्यों के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 6700 ग्राम पंचायतों व शहरी क्षेत्र में भी इस विषय को लेकर बेहतर समन्वय के साथ कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पानी प्रबन्धन योजना के तहत जहां हमें पानी को बचाना है, वहीं जो पानी व्यर्थ हो चुका है, उसको एसटीपी के माध्यम से शुद्धिकरण करते हुए उसे भी प्रयोग में लाने का काम करना है। इसके लिये हमें बेहतर समन्वय के साथ कारम करना होगा। उन्होंने ग्रे वॉटर से ट्रीट कए गए पानी पानी का प्रयोग बागवानी, उद्योगों, स्कूलों आदि जगहों पर करने के निर्देश दिए।

जिले से 23 गांव के प्रोजेक्ट स्वीकृति के लिए भेजे

उपायुक्त यशपाल ने विडियो कांफेसिंग के दौरान मुख्यमंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि जिला फरीदाबाद में वर्ष 2020-21 में 23 गांवों के ग्रे वाटर मैनेजमैंट प्रोजेक्ट तैयार कर संबंधित विभाग को स्वीकृति के लिए भेजे गए हैं। वहीं ग्रे वाटर मैनेजमैंट के तहत पंचायती राज विभाग ने जो प्रोजेक्ट बनाए गये हैं, उसके तहत कार्य तेजी से जारी है। उपायुक्त ने बताया कि फरीदाबाद जिला में शिवधाम योजना के तहत सभी कार्य पूरे कर लिए गए हैं। जिले के सभी शमशान घाट व कब्रिस्तानों में आवश्यक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं।

जिले में गेंहू खरीद की कोई दिक्कत नहीं

मुख्यमंत्री ने बैठक में गेहूं खरीद कार्य को लेकर किए जा रहे प्रयासों के बारे में भी जानकारी ली। अभी तक मंडियों में कितनी गेहूं पंहुच चुकी है तथा कितनी खरीदी जा चुकी है, इस बारे भी जानकारी ली। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि आढ़तियों की जो आढ़त संबन्धी जो मांग थी, उसे पूरा किया गया है और ब्याज सहित देने का काम किया जा रहा है। जिला उपायुक्त ने जानकारी देते हुए कहा कि जिले की मंडियों में गेहूं खरीद का कार्य सुचारू रूप से जारी है। किसी प्रकार की कोई दिक्कत नही है। मंडियों में सफाई व्यवस्था के साथ-साथ किसानों को गेट पास में किसी प्रकार की परेशान न हो, इसके लिए बेहतर व्यवस्था की गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gray water management in 23 villages in the district will prevent wastage of water