ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR फरीदाबादडबुआ कॉलोनी समेत 15 इलाकों में बिजली-पानी संकट गहराया

डबुआ कॉलोनी समेत 15 इलाकों में बिजली-पानी संकट गहराया

फरीदाबाद। लू चलने से शहर में बिजली-पानी का संकट बना हुआ है। सोमवार को शहर के दर्जन भर से ज्यादा कॉलोनियों में बिजली-पानी का संकट बना हुआ...

डबुआ कॉलोनी समेत 15 इलाकों में बिजली-पानी संकट गहराया
default image
हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादTue, 18 Jun 2024 12:00 AM
ऐप पर पढ़ें

फरीदाबाद। लू चलने से शहर में बिजली-पानी का संकट बना हुआ है। सोमवार को शहर के दर्जन भर से ज्यादा कॉलोनियों में बिजली-पानी का संकट बना हुआ है। लोगों को पानी के लिए टैंकरों पर निर्भर होना पड़ रहा है। उधर, रात में बार-बार बिजली कट लगने से लोगों की नींद पूरी नहीं हो पा रही है।
ग्रेटर फरीदाबाद के ददसिया गांव में ओवरलोड होने से ट्रांसफार्मर में आग लग गई। इससे ट्रांसफार्मर के साथ एक दुकान में आग लग गई। इससे दुकान में रखा सामान खाक हो गया। रविवार रात करीब 3:00 बजे अचानक ट्रासंफार्मर में धमाके के साथ आग लगी थी। लोगों ने रात में बाल्टियों से पानी और रेत डालकर आग पर काबू पाया। दुकानदार सुरेश गोयल ने बताया कि आग की वजह से दो काउंटर, इलेक्ट्रिक तराजू, मिठाई, नमकीन, बिजली का सामान, जरूरी कागजात, दुकान के शटर और दीवार क्षतिग्रस्त हो गईं। मोहित त्यागी ने बताया कि बिजली निगम कर्मचारियों से इस ट्रांसफार्मर को यहां से हटाने का अनुरोध किया गया था। फिर भी यहां से नहीं हटाया गया। ट्रांसफार्मर जलने से गांव के बड़े हिस्से में बिजली आपूर्ति ठप पड़ गई। दोपहर बाद तक यहां ट्रांसफार्मर नहीं लग पाया था। बल्लभगढ़ के सिही गेट इलाके में फाल्ट होने की वजह से रविवार रात करीब 10:30 बजे बिजली आपूर्ति ठप हो गई। यहां रात 2:00 बजे बिजली बहाल हो सकी। नहरपार की इंद्रा कॉम्पलेक्स कॉलोनी में रविवार रात 10:30 बजे से लेकर 12:00 बजे तक बिजली आपूर्ति ठप रही। इसी तरह रविवार रात डबुआ कॉलोनी, पर्वतीय कॉलोनी, एसजीएम नगर, बड़खल, शिव दुर्गा विहार और सेहतपुर की विभिन्न कॉलोनियों में रात में बिजली के कट लगते रहे। वहीं सोमवार दोपहर को 1:20 से 1:50 के बीच एनआईटी पांच फ्रूट गार्डन में बिजली आपूर्ति ठप रही। सोमवार शाम को भी यहां 5:36 पर बिजली आपूर्ति ठप हो गई।

पानी संकट नहीं हो रहा खत्म:

गरमी का मौसम शुरू होते ही डबुआ कॉलोनी, पर्वतीय कॉलोनी, नंगला एंक्लेव, गाजीपुर रोड, कपड़ा कॉलोनी में शुरू हुआ पेयजल संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। यहां लोगों को टैंकर से पानी की जरूरत पूरी करनी पड़ रही है। नगर निगम के टैंकरों के साथ-साथ लोग निजी टैंकरों के जरिए पानी का इंतजाम करने में जुटे हुए हैं। उधर, सैनिक कॉलोनी, बड़खल, एसजीएम नगर, शिव दुर्गा विहार में भी पेयजल किल्लत बनी हुई है। उपरोक्त कॉलोनियों के लोग कभी नगर निगम मुख्यालय तो कभी सड़क पर खड़े होकर प्रदर्शन कर चुके हैं। फिर भी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। शहर के वार्ड नंबर-पांच और सात में पाइप लाइन में लीकेज की समस्या है। इस वजह से भी लोगों के घरों तक पर्याप्त पानी नहीं पहुंच पाता है।

24 घंटे ट्यूबवेल चलने पर भी पेयजल की किल्लत:

नगर निगम प्रशासन शहर में पानी की आपूर्ति दुरुस्त रखने के लिए हर रोज 1,760 ट्यूबवेल चलाकर पानी की आपूर्ति कर रहा है। फिर भी लोगों को पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है। निगम अधिकारियों के मुताबिक, 370 एमएलडी पानी की जरूरत है। लेकिन, 277 एमएलडी पानी की जरूरत ही पूरी हो पा रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।