DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सातवें वेतनमान के लिए डाक कर्मचारियों का प्रदर्शन

सातवें वेतनमान के लिए डाक कर्मचारियों का प्रदर्शन

ग्रामीण डाक सेवा कर्मचारियों का सातवां वेतन आयोग के अनुसार वेतन लागू नहीं होने पर हड़ताल जारी रही। उन्होंने बुधवार को बीके चौक स्थित मुख्य डाकघर के मुख्यगेट पर अर्द्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। इनका कहना था कि अगर सरकार 'कमलेश चंद्रा कमेटी की रिपोर्ट' लागू नहीं करती है तो शुक्रवार को दिल्ली के संचार भवन के सामने प्रदर्शन किया जाएगा। यह जानकारी अखिल भारतीय ग्रामीण डाक कर्मचारी संघ के मंडल सचिव सुरेश गौतम ने दी, जबकि प्रदर्शन की अध्यक्षत नीलम कुमार ने की।

उन्होंने बताया कि मांगों के समर्थन में 22 मई से हड़ताल चल जारी है। ग्रामीण क्षेत्र में करीब 250 पद स्वीकृत हैं। इसमें से जिले के करीब 185 पदों पर कर्मचारी तैनात हैं, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में डाक वितरण का काम पूरी तरह ठप हो चुका है। कर्मचारियों का कहना है कि कमलेश चंद्रा कमेटी लागू होने के बाद डाक कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18 से 20 हजार रुपये हो जाएगा। अभी नए कर्मचारियों को 62 सौ रुपये ही मिलते हैं। कर्मचारियों का कहना था कि कमेटी की रिपोर्ट 11 फरवरी 2016 को सरकार को सौंप दी गई थी। इसके बावजूद इसे अभी तक लागू नहीं किया गया। इससे कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। इस मौके पर कई कर्मचारी नेता मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Demonstration of post employees for seventh pay scale