DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पानी के लिए दो कॉलोनियों के लोगों का प्रदर्शन

पानी के लिए दो कॉलोनियों के लोगों का प्रदर्शन

1 / 2बिजली और पानी की किल्लत झेल रहे जवाहर कॉलोनी और एसी नगर के लोगों को बुधवार को नगर निगम मुख्यालय पर अलग-अलग विरोध प्रदर्शन किया। जवाहर कॉलोनी से आए लोगों का नेतृत्व इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) महिला...

पानी के लिए दो कॉलोनियों के लोगों का प्रदर्शन

2 / 2बिजली और पानी की किल्लत झेल रहे जवाहर कॉलोनी और एसी नगर के लोगों को बुधवार को नगर निगम मुख्यालय पर अलग-अलग विरोध प्रदर्शन किया। जवाहर कॉलोनी से आए लोगों का नेतृत्व इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) महिला...

PreviousNext

बिजली और पानी की किल्लत झेल रहे जवाहर कॉलोनी और एसी नगर के लोगों को बुधवार को नगर निगम मुख्यालय पर अलग-अलग विरोध प्रदर्शन किया। जवाहर कॉलोनी से आए लोगों का नेतृत्व इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष जगजीत कौर ने किया। इस मौके पर इनेलो नेता प्रेम सिंह धनखड़, जीआर भड़ाना, संतोष शर्मा आदि नेताओं ने नगर निगम अधिकारियों को चेतावनी दी कि अगर पेयजल किल्लत को रविवार तक दूर नहीं किया गया तो सोमवार को मुख्यालय पर नगर निगम अधिकारियों का घेराव करते हुए प्रदर्शन होगा। साथ ही इन लोगों ने संयुक्तायुक्त को एक ज्ञापन भी दिया।

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि जवाहर कॉलोनी राममंदिर वाली गली क्षेत्र में पेयजल की भारी किल्लत है। कई-कई दिन तक पानी नहीं आता है। इलाके में सीवर का पानी सड़कों पर बहता है। बिजली के लंबे अघोषित कट और पेयजल आपूर्ति ठप हो गई है। कोई सुनने वाला नहीं है। स्थानीय कार्यालय पर नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारी जनता की नहीं सुनते हैं। पार्षद लोगों से मिलते नहीं हैं। नगर निगम की लापरवाही से गर्मी में लोगों को बिजली-पानी संकट झेलना पड़ रहा है। बिजली-पानी किल्लत ने लोगों की दिनचर्या दूभर कर दी है। रातभर लोग पानी के इंतजाम में जुटे रहते हैं। प्रदर्शनकारियों में भजनलाल नैन, गुरजीत कौर, निर्मलकौर, कौशल्या, संदेश, रीना, हेमा, मनविंदर, पूनम, कृष्णा, अनिता सिक्का, जसमीत कौर, सतनाम कौर, इंदू, कमलेश, रविंदर, मनीष, मिथलेश, विद्यावंती, दीपक आदि शामिल रहे।

एसी नगर की महिलाओं ने फिर नारेबाजी की :

एसी नगर की महिलाओं ने बुधवार को एक बार फिर से पेयजल के लिए गुहार लगाई। यह महिलाएं बीते तीन महीने से पेयजल के लिए गुहार लगाने सप्ताह में दो दिन नगर निगम मुख्यालय पहुंचती हैं। एसी नगर के करीब 300 घरों में पेयजल आपूर्ति बाधित है। प्रशासन से बार-बार गुहार लगाने के बाद भी करीब तीन सौ परिवारों के लिए पेयजल का इंतजाम नहीं किया गया है। गुस्साई महिलाओं ने नगर निगम मुख्यालय में नारेबाजी की। एसी नगर के इस इलाके में करीब तीन महीने से पानी की किल्लत है। सुमन, कमलेश, शारदा, लक्ष्मी, सुदेश, राजकुमारी, सुमित्रा आदि ने बताया कि वह सभी कई बार नगर निगम में आ चुकी हैं, लेकिन कोई यहां उनकी सुनने वाला नहीं है। अधिकारी बार-बार नया ट्यूबवेल लगाने की बात कहते हैं काम कोई नहीं करता है। अधीक्षक अभियंता रमन शर्मा ने महिलाओं को सोमवार तक काम शुरू कराने और फिल्हाल पानी टैंकरों से भिजवाने का आश्वासन दिया।

कॉलोनियों में 80 फीसदी लोगों को नहीं मिल रहा पानी :

शहर में करीब 171 कॉलोनियां हैं और करीब 66 स्लम बस्ती हैं, जहां टैंकरों से पानी की आपूर्ति की जाती है। बीते दिनों नगर निगम आयुक्त की सख्ती से अवैध टैंकरों पर अंकुश लगा है। नगर निगम के टैंकर पर्याप्त पानी आपूर्ति नहीं कर पा रहे हैं। इसके अलावा जिन कॉलोनियों में पानी की आपूर्ति है। वहां बिजली नहीं होने से पेयजल संकट गहराया हुआ है। ऐसे में इन इलाकों में करीब 80 फीसदी लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए रात भर मारे-मारे फिरते देखे जा सकते हैं।

बड़खल में गहराया पेयजल संकट :

बड़खल इलाके में पेयजल आपूर्ति बाधित है। रमजान के महीने में रोजेदारों को पानी की एक-एक बूंद के लिए परेशान होना पड़ रहा है। शाकिर ने बताया कि रोजेदार दिन-रात पानी के इंतजाम लगे रहते हैं। कई बार नगर निगम को शिकायत की है, लेकिन अभी तक पानी का इंतजाम नहीं किया गया है। कई मस्जिदों में रोजेदारों को वज्जू करने के लिए पानी नहीं है।

-------

डीआर भास्कर, मुख्य अभियंता :

शहर में बिजली के कटों के कारण पेयजल संकट है। जबकि नगर निगम इलाके में ट्यूबवेल और रेनीवेल का पानी पर्याप्त है। कुछ इलाकों में टयूबवेल खराब होने की सूचना है तो दूसरे ट्यूबवेल से पानी दिया जा रहा है। या फिर टैंकर से पानी भिजवा रहे हैं।

शहर में पानी की स्थिति पर एक नजर :

शहर में पानी की आवश्यकता: करीब 360 एमएलडी प्रतिदिन

शहर में पानी की उपलब्धता: करीब 300 एमएलडी प्रतिदिन

पानी की कमी: करीब उपलब्धता: करीब 60 एमएलडी प्रतिदिन

रैनीवेल परियोजना की छह लाइनों: करीब 200 एमएलडी प्रतिदिन

1080 ट्यूबवेलों से: करीब 100 एमएलडी प्रतिदिन

----------

स्मार्ट सिटी फरीदाबाद पर एक नजर

शहर की आबादी: करीब 20 लाख

कॉलोनी: करीब 171

स्लम बस्ती: करीब 66

शहर में सेक्टर: करीब 91

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Demonstration of people of two colonies for water