DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  फरीदाबाद  ›  आठ घंटे मरीजों की सेवा के बाद भी हमेशा मरीजों की सेवा के लिए तैयार

फरीदाबादआठ घंटे मरीजों की सेवा के बाद भी हमेशा मरीजों की सेवा के लिए तैयार

हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबादPublished By: Newswrap
Thu, 13 May 2021 11:50 PM
आठ घंटे मरीजों की सेवा के बाद भी हमेशा मरीजों की सेवा के लिए तैयार

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड-19 के दूसरे चरण के शुरू होते ही हरियाणा स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत वरिष्ठ नर्सिंग अधिकारी रचना यादव सरकारी अस्पताल की एमरजेंसी में जुटी हुई हैं। घर जाने के बाद जरूरत होने पर तुरंत डयूटी पर पहुंचती हैं। इमरजेंसी में आठ घंटे तक गंभीर मरीजों के बीच डटी रहती हैं। एम्स शाखा परिसर में ही बने फ्लैट में रहने वाली वरिष्ठ नर्सिंग अधिकारी रचना यादव प्रतिदिन सुबह उठकर दैनिक कार्य से निपटने के बाद पूजा-पाठ करती है।उसके बाद ठीक नौ बजे रोजाना की तरह अस्पताल की एमरजेंसी में अपनी ड्यूटी पर पहुंच जाती है। जहां वह पहुंचने के बाद एमरजेंसी में लगे प्रत्येक बेड की चार आदि को अपने सामने बदलवाती है। इसके बाद वह एमरजेंसी में मरीजों को लगने वाले इंजेक्शन सहित अन्य सामान को पूरी तरह चैक करती है। इसके बाद अपनी 8 घंटे की डयूटी में यही निगरानी रखती हैं कि किसी मरीज को किसी प्रकार की परेशानी तो नहीं है। इतना ही नहीं वह समय-समय पर मरीजों के हाल-चाल भी पूछती रहती हैं, कि किसी को किसी प्रकार की परेशानी तो नहीं है।

ड्यूटी देने के लिए हमेशा तैयार

एम्स शाखा परिसर में बने फ्लैट में रहने वाली नर्सिंग अधिकारी रचना यादव का कहना है कि घर पर पहुंचने के बाद वह अपने आपको इस प्रकार तैयार रखती कि वह कभी भी अस्पताल को अपनी सेवा दें सकें। जब भी एमरजेंसी में गंभीर मरीज को लेकर बुलाया जाता है तो वे तुरंत एमरजेंसी कक्ष में पहुंच जाती हैं।

सफाई भी रखती हैं खासा ख्याल

घर से निकलने से पहले वह मुंह पर मास्क लगाती है और अपने पास सेनेटाइजर रखती है। जिसका वह थोड़े-थोड़े समय के बाद प्रयोग करती है। इसके बाद जब शाम को घर पहुंचती हैं,तो पहले स्नान करती है और उसके बाद अपने परिवार वालों से मिलती है।

परिवार के तीन सदस्य रहते हैं अलग-अलग

वरिष्ठ नर्सिंग अधिकारी रचना यादव का कहना है कि उनके परिवार में उनके अलावा उनके पति व बेटा है। उनके फ्लैट में तीन कमरे हैं। तीनों पिछले काफी दिनों अलग-अलग कमरे में रहते हैं। वह अपने पति व बेटे से दूर से ही बात करती है। खाना-नास्ता भी दूर ही पकड़ा देती है।

संबंधित खबरें